Saturday , April 20 2019
Loading...
Breaking News

वीजा फ्रॉड मामले में दो कंपनियों के भारतीय सीईओ को किया गिरफ्तार, हो सकता है बड़ा खुलासा

दो भारतीय आईटी कंपनियों डाइवेन्सी व अजीमैत्री के सीईओ को अमेरिका में गिरफ्तार कर लिया गया है। भारत के ही रहने वाले इस सीईओ पर बहुवर्षीय वीजा फ्रॉड योजना से जुड़े होने का आरोप है। अमेरिकी जांच एजेंसियों ने 49 वर्षीय प्रद्युमभन कुमार सामल को पिछले सप्ताह एक इंटरनेशनल फ्लाइट से सिएटल एयरपोर्ट पर उतरने के बाद हिरासत में लिया गया था।

सामल के खिलाफ अप्रैल में फर्जी दस्तावेजों की मदद से 200 विदेशी कर्मचारियों को अमेरिका आने के लिए एच-1बी वीजा उपलब्ध कराने का मुकदमा दर्ज किया गया था। लेकिन वे जांच के दौरान ही फरार हो गए थे। पिछले सप्ताह जब उन्हें गिरफ्तार किया गया तो वह फरारी के बाद पहली बार अमेरिका लौट रहे थे।

सामल की कंपनियां अपने कॉरपोरेट क्लाइंट को सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट इंजीनियर जैसे आईटी पेशेवर उपलब्ध कराती है। उनके खिलाफ एक शिकायत के बाद 2015 में जांच शुरू की गई थी।

अमेरिकी सरकार को दिलाता फर्जी जानकारी
शिकायत में सामल पर आरोप लगाया गया था कि वह अपने कर्मचारियों पर दबाव बनाकर उन्हें अमेरिकी सरकार को अपने बारे में झूठे व फर्जी तरीके से तैयार तथ्यों वाले आवेदन जमा करने को कहता था। सामल इस काम के लिए सिक्योरिटी डिपॉजिट के नाम पर हर पेशेवर से 5 हजार अमेरिकी डॉलर वसूल रहा था। सामल को इस मामले में दोषी साबित होने पर 10 साल कैद और ढाई लाख डॉलर के जुर्माने की सजा हो सकती है।

loading...