Wednesday , September 19 2018
Loading...

प्रेग्नेंसी के दौरान होता है हाई ब्लड प्रेशर का खतरा

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के खानपान का असर गर्भ में पल रहे शिशु पर भी पड़ता है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं को अपनी डाइट का खास ध्यान रखना चाहिए। प्रेग्नेंसी के दौरान ब्लड प्रेशर के घटने-बढ़ने की शिकायत मां और शिशु दोनों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है। मां के हाई ब्लड प्रेशर शिशु के विकास में बाधा पैदा कर सकता है। हाई बीपी को कम करने वाले आहार जब ब्लड प्रेशर 140/90 से ऊपर होता है तो यह कई समस्याएं हो सकती हैं। हाई ब्लड प्रेशर के दौरान मां को हाथ और पैरों में सूजन, पेशाब करते वक्त झाग बनना यानि यूरिन में प्रोटीन, हाइपरटेंशन की समस्या, बार बार चक्कर आने की समस्या, सिर दर्द, आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, नजर कमजोर होना, पीठ दर्द और पेशाब में कमी की समस्याएं उत्पन्ना हो सकती हैं। आइए आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बताते हैं जिनकी मदद से हाई बल्ड प्रेशर की समस्या पर बहुत हद तक काबू पा सकती हैं।

लौकी का जूस : हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा पाने के लिए लौकी का जूस किसी रामबाण से कम नहीं है। रोजाना सुबह खाली पेट लौकी का जूस पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोस में रहेगा। इसका असर 15 दिन के अंदर ही दिखने लगेगा। एक कप लौकी के रस में छ पुदीने के पत्ते, छ तुलसी के पत्ते, छ धनिया के पत्ते और छ काली मिर्च डालकर रोजाना सुबह खाली पेट सेवन करें। इससे न सिर्फ हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल होगा बल्कि कोलस्ट्रोल में भी लाभ होगा।

दालचीनी के साथ शहद : दालचीनी हाई बीपी को कंट्रोस करने में काफी कारगर साबित होती है। यह हर किसी के घर में आसानी से मिल जाती है। रोजाना सुबह आधा चम्मच दालचीनी पाउडर में आधा चम्मच शहद मिलाकर गुनगुने पानी के साथ पीने से बीपी की शिकायत जल्दी ठीक हो जाएगी।

हरी पत्तेदार सब्जियां और फल : फल और हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना सभी के लिए फायदेमंद होता है। वहीं प्रेग्नेंट महिला के लिए इनका सेवन अधिक लाभकारी होता है। हरी और पत्तेदार सब्जियों में पालक, लौकी, मशरूम, मैथी और गाजर हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में कारगर साबित होती है। फलों में सेब, केला और तरबूज का सेवन करना चाहिए।

नमक : प्रेग्नेंसी के दौरान हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए डाइट में नमक का ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि नमक हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत को बढ़ा सकता है। इसीलिए नमक का सेवन कम करना चाहिए।

योगा : योगा हमारे शरीर को मजबूत, लचीला और सुंदर बनाने का काम करता है। रोजाना नियमित रूप से योगा का अभ्यास कई रोगों से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है और हम फ्रैश महसूस करते हैं। वहीं जिन प्रेग्नेट महिलाओं को हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत है उन्हें बीपी कंट्रोल करने के लिए नियमित रूप से योगा करना चाहिए।

Loading...
loading...