Monday , April 22 2019
Loading...

इन TIPS से बचाएं धूल और मिट्टी से अपनी जान

तूफान (Thunderstorm) के डर से हर कोई सहमा हुआ है. धूल भरी आंधी और बारिश का कहर लोंगों के रोज़ाना के जीवन को तबाह कर रहा है. सामानों और डेली लाइफस्टाइल को प्रभावित करने के अलावा ये तूफान अस्थमा के मरीज़ों के लिए अलग ही परेशानी ला रहा है. क्योंकि धूल-मिट्टी का सबसे बुरा असर सिर्फ दमा के मरीज़ों को होता है. ऐसे में ज़रूरी है कि नीचे दिए गए टिप्स को अस्थमा के मरीज़ फॉलो करें.

1. सबसे पहले अपने मुंह, नाक, आंखे और कानों को कपड़े से बांध लें, ताकि कहीं से धूल आपके शरीर में ना जा पाए.
2. अगर आपके पास पानी मौजूद हो तो सबसे बेहतर है कि आप कपड़े को गीला करके मुंह पर बांधे.
3. आंधी या तूफान से खुद की रक्षा करने के लिए सुरक्षित जगह पर जाएं, जहां आप खुद को धूल-मिट्टी से बचा सकें.
4. घर पहुंच कर सबसे पहले नहाएं और हल्के गुनगुने पानी से गरारे कर गले को साफ करें.
5. अगर आप घर में मौजूद हों तो घर के खिड़की और दरवाजे बंद रखें.
6. धूल की वजह से गले और नाक में खुजली या इरिटेशन हो तो 10 से 20 मिनट तक स्टीम लें.
7. हमेशा अपनी दवाइयां और इनहेलर साथ में रखें, ताकि इमरजेंसी में इन्हें खा सकें.
8. इन बचावों के बाद भी अगर सांस लेने में दिक्कत हो तो तुरंत अस्पताल जाएं.

आपको बता दें मौसम विभाग की तरफ से आई जानकारी के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर सहित 20 राज्यों में 11 मई तक तूफान की आशंका की बनी हुई है.  भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, कर्नाटक और केरल आंधी-तूफान से प्रभावित हो सकते हैं.

loading...