Wednesday , November 21 2018
Loading...
Breaking News

इस विवाद सुलझाने को पाक की नई सरकार करेगी पहल

इमरान खान के नेतृत्व में पाक सरकार द्वारा कश्मीर मामले का हल निकालने के लिए एक प्रस्ताव पर काम किया जा रहा है। पाक कैबिनेट में नई शीर्ष मंत्री ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह प्रस्ताव इसी सप्ताह तैयार कर लिया जाएगा और इसके बाद इसे कैबिनेट में पेश किया जाएगा।पाक की नई कैबिनेट में मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने हालांकि प्रस्ताव के बारे में कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी है लेकिन इस बात के संकेत जरूर दिए हैं कि इमरान सरकार भारत से साथ बातचीत के रास्ते कश्मीर का हल तलाशने में जुटी हुई है।

मजारी ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी की सरकार कश्मीर मसले का हल हर सूरत में चाहती है। यह चुनाव से पहले का इमरान खान का वादा भी है। इमरान ने कहा था कि कश्मीर का समाधान उनकी प्राथमिकता है जिसे दोनों पक्ष वार्ता द्वारा सुलझाएंगे। उन्होंने कश्मीर को भारत-पाक का आपसी मसला भी बताया था।
शिरीन मजारी ने कहा कि इमरान खान ने चुनाव जीतने के बाद ही स्पष्ट किया था कि यदि भारत एक कदम दोस्ती के लिए बढ़ाता है तो पाक दो कदम आगे बढ़ाएगा।

हालांकि विश्लेषकों का मानना है कि पाक के लिए कश्मीर मसले का समाधान इतना आसान नहीं है। यही कारण है कि इमरान द्वारा विवाद के हल की बात कहने के बावजूद सत्ता संभालने के बाद उनकी तरफ से दोस्ती के कोई ठोस संकेत नहीं मिले हैं। इसके लिए पाक सेना एक बड़ा कारण है जिसके बिना इमरान सरकार का आगे बढ़ना बेहद मुश्किल है।

Loading...

प्रस्ताव में अन्य पक्षकारों से चर्चा पर उठे सवाल

loading...
पाक मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने अपने बयान में स्टेकहोल्डर्स (अन्य पक्षकारों) की भी बात की है। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव पर अन्य पक्षकारों से भी बातचीत की जाएगी। ऐसे में सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या पाकिस्तान कश्मीरी अलगाववादियों से भी प्रस्ताव पर चर्चा करेगा? क्योंकि इमरान सरकार द्वारा अब तक आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई के कोई संकेत नजर नहीं आए हैं। यदि अन्य पक्षकारों में कश्मीरी अलगाववादी शामिल हैं तो भारत की प्रतिक्रिया सकारात्मक होना मुश्किल है।
Loading...
loading...