X
    Categories: राष्ट्रीय

फिर चर्चा में आया बिप्लब देब का बयान

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब एक बार फिर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। इस बार उन्होंने कहा कि जलाशयों में बत्तखों के तैरने से पानी में ऑक्सीजन लेवल अपने आप बढ़ जाता है। उन्होंने कहा कि जब बत्तखें तैरती हैं तो वह पानी में रिसाइकल करती जाती हैं। इस दौरान उन्होंने बत्तख पालन पर जोर दिया।

बिप्लब देव ने कहा कि हमारी सरकार जल निकायों के नजदीक रहने वाले ग्रामीणों को 50 हजार छोटी बत्तखें देने की योजना पर विचार कर रही है। क्योंकि पर्यावरण को बचाने के लिए प्रत्येक परिवार को बत्तख पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जलाशयों में बत्तखों के तैरने से पानी में रहने वाली मछलियों को ज्यादा ऑक्सीजन मिल सकेगी।

उन्होंने कहा कि बत्तखों की बीट से भी मछलियों को फायदा होता है। ऐसा करने से मछली पालन में भी वृद्धि होगी। साथ ही मछलियां भी तेजी से विकसित होंगी। उन्होंने कहा कि यह एक ऑर्गेनिक तरीका है। इसके बहुत फायदे हैं।

Loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.