Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

रुपये में आकस्मित गिरावट से मुद्रा विनिमय मार्केट में बढ़ता है उतार- चढ़ाव

 के समूह आर्थिक सलाहकार सौम्या घोष ने शुक्रवार को बोला कि रुपये में आकस्मितगिरावट आना या तेजी आना अच्छा नहीं है इससे मुद्रा विनिमय मार्केट में उतार- चढ़ाव बढ़ता है

भारतीय चैंबर आफ कामर्स (ICC) के एक प्रोग्राम से इतर मीडिया से बात करते हुए घोष ने बोला कि पिछले पांच-छह माह में 64 से गिरता हुआ 70 रुपये प्रति डॉलर पर आया है इस दौरान उसका गिरना व्यवस्थित रहा है उन्होंने बोला कि 72 को छूएगा, यह कोई मायने नहीं रखता है

Loading...

पूरे वित्त साल में जीडीपी 7.5 % रहने का अनुमान
सकल घरेलू उत्पाद (GDP) बढ़ने के बारे में उन्होंने बोला कि स्टेट बैंक शोध अनुमान के मुताबिक पहली तिमाही में इसके 7.7 फीसदी  पूरे वित्त साल के दौरान 7.5 फीसदी रहने का अनुमान हैसार्वजनिक एरिया के बैंकों पर रिजर्व बैंक  गवर्नमेंट के दोहरे नियंत्रण के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘शीर्ष बैंक के पास उनके नियंत्रण के लिये बहुत अधिकार हैं, सार्वजनिक एरिया के बैंकों का व्यक्तिगत बैंकों के मुकाबले कहीं अधिक ऑडिट होता है ‘ नोटबंदी  GST के दोहरे असर पर उन्होंने बोला कि अर्थव्यवस्था पर इनका प्रभाव खत्म हो चुका है

loading...

दूसरी तरफ आयातकों  बैंकों की मांग से शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी 13 पैसे गिरकर 70.24 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया विदेशी मुद्रा डीलरों का कहना है कि विदेशी बाजारों में डॉलर मजबूत रहा केंद्रीय बैंकों के सालाना वैश्विक सम्मेलन में फेडरल रिजर्व के चेयरमैन जेरोम पॉवेल के सम्बोधन से पहले रुपये पर दबाव रहा अंतर बैंकिंग विदेशी मुद्रा मार्केट में गुरुवार को कारोबार की समाप्ति पर रुपया 30 पैसे गिरकर 70.11 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था

Loading...
loading...