Friday , December 14 2018
Loading...

 न्यायालय ने राष्ट्रपति चुनावों के उन नतीजों को बरकरार रखने का लिया निर्णय 

 जिम्बाब्वे की शीर्ष न्यायालय ने राष्ट्रपति चुनावों के उन नतीजों को बरकरार रखने का निर्णय लिया है जिसमें एमर्सन नंगाग्वा ने छोटी अंतर से जीत हासिल की थी

इसके साथ ही नंगाग्वा के राष्ट्र की कमान संभालने की राह साफ हो गई है नंगाग्वा कल राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण करेंगे उन्होंने शांति की अपील करते हुए विपक्षी नेता नेल्सन चामिसा से बोला कि, “मेरा दरवाजा खुला है  मेरी बाहें फैली हुई हैं ’’जिम्बाब्वे के चुनाव आयोग ने 30 जुलाई को नंगाग्वा को 50.8 फीसदी मतों के साथ विजयी घोषित किया था

Loading...

लेकिन बाद में इसमें ‘‘त्रुटि’’ का हवाला देते हुए आंकड़े में बदलाव कर इसे 50.6 फीसदी कर दिया था वहीं चामीसा को 44.3 फीसदी मत मिले थे विपक्ष ने चुनाव आयोग पर नंगाग्वा के आंकड़ों में भारी हेराफेरी का आरोप लगाया था इसके बाद यह मामला संवैधानिक न्यायालय पहुंचा

loading...

अदालत ने मामले में अपने निर्णय पर कहा, विपक्ष अनियमितताओं के अपने दावों का समर्थन करने के लिए ‘‘पर्याप्त  विश्वसनीय सबूत’’ पेश करने में असफल रहा उसने बोला कि चुनाव आयोग ने भी बहुत ज्यादा हद तक इन दावों को खारिज कर दिया था न्यायालय के निर्णय के बाद चामिसा ने ट्विटर पर अपने समर्थकों से कहा, ‘‘मुझे पता है आप ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं लेकिन मैं इसे गंभीरता से लूंगा ’’

Loading...
loading...