X
    Categories: क्राइम

सहपाठियों में बाटे पिता से चुराए हुए 46 लाख रुपये

मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में मित्रता दिवस के दिन एक लड़के ने अपने पिता के 46 लाख रुपये चुराकर स्कूल के सहपाठियों में बांट दिए। इसमें से उसने एक सहपाठी को 15 लाख रुपये दिए और एक अन्य लड़के को अपना होमवर्क करने के बादले 3 लाख रुपये दिए। लड़के के पिता पेशे से बिल्डर का काम करते हैं।

उसकी कक्षा के ही एक छात्र ने उन पैसों से नई गाड़ी भी खरीद ली। लड़का कक्षा 10 में पढ़ता है। उसने किसी के भी हाथ खाली नहीं रहने दिए। उसने कक्षा और कोचिंग में पढ़ने वाले 35 छात्रों को स्मार्टफोन और सिल्वर ब्रेसलेट भी तोहफे में दिए। पूछताछ के दौरान उसने पुलिस को बताया कि उसने अलमारी से 60 लाख रुपये निकाले थे जो कि हाल ही में उसके पिता को एक प्रोपर्टी बेचने के बाद मिले थे।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक जब बिल्डर के घर में चोरी हुई तो उसने पुलिस में शिकायत की। सब हैरत में थे कि पैसे गए तो गए कहां। क्योंकि घर में ऐसा कोई सबूत नहीं मिला जिससे लगे कि वहां चोर आए हों। बाद में जब मामले की जांच की गई तो पता चला कि बिल्डर के बेटे ने अपनी कक्षा के बच्चों और दोस्तों  को पैसे बांटे हैं। इसके अलावा उसके पड़ोस में रहने वाले एक लड़के को भी पैसों की जरूरत थी तो उसने उसे भी पैसे दे दिए। अभी पैसों को वसूलने की कोशिश की जा रही है।

Loading...

एसआई ने बताया कि लड़के के पिता ने पुलिस को उन छात्रों की सूची दी है जिन्हें उनके बेटे ने पैसे दिए थे। पुलिस उन बच्चों से संपर्क करने की कोशिश में लगी है। उसने जिस लड़के को 15 लाख रुपये दिए थे वह भी पैसे मिलने के बाद से ही गायब है। इसके अलावा जिन पांच बच्चों को उसने सबसे ज्यादा रुपये दिए थे पुलिस ने उनके अभिभावकों को तलब कर लिया है और पांच दिनों में पैसे लौटाने को कहा है। अभी तक 15 लाख रुपये बरामद कर लिए गए हैं और बाकि पैसे बरामद करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिन भी बच्चों को पैसे दिए गए वह सभी नाबालिग हैं इस कारण अभी तक किसी के भी खिलाफ मामला दर्ज नहीं किया गया है।

loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.