Wednesday , September 26 2018
Loading...
Breaking News

1 सितंबर से शुरू होगा देश का सबसे बड़ा पेमेंट बैंक

आगामी 1 सितंबर से देश का सबसे बड़ा पेमेंट बैंक शुरू हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आईपीपीबी) का उद्धघाटन करेंगे।  पहले इस बैंक को 21 अगस्त को शुरू किया जाना था लेकिन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के बाद सात दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित होने से यह टल गया था।

ग्रामीण इलाकों के लोगों को मिलेगा लाभ

आईपीपीबी के सीईओ सुरेश सेठी के मुताबिक बैंक से ग्रामीण इलाके के लोग डिजिटल बैंकिंग का लाभ ले सकेंगे। मोबाइल एप से या पोस्ट ऑफिस जाकर किसी भी बैंक खाते में पैसा ट्रांसफर किया जा सकेगा।

Loading...

संचार मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि आईपीपीबी की दो शाखाएं पहले से ही परिचालन में हैं, जबकि बाकी 648 शाखाओं को देश के हर एक जिले में खोला जाएगा। आईपीपीबी ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को बैंकिंग व वित्तीय सेवा प्रदान करने के लिए 1.55 लाख पोस्ट ऑफिस शाखाओं का लाभ उठाएगी।

loading...

आईपीपीबी के कार्यकारी अधिकारी सुरेश सेठी के मुताबिक परिचालन, तकनीकी स्तर पर और बाजार के दृष्टिकोण से हम शुरुआत करने को तैयार हैं। आईपीपीबी बैंकिंग सेवा डाकघरों के लिए मील का पत्थर साबित होगा। सीईओ सेठी ने बताया कि पूरा तंत्र जांचने के बाद आरबीआई ने आईपीपीबी के परिचालन को मंजूरी दी है और हम शुरुआत करने को तैयार है। हालांकि उन्होंने तारीख का खुलासा नहीं किया।

एयरटेल, पेटीएम के बाद तीसरा बैंक

याद रहे कि पेमेंट बैंकों की मंजूरी पाने वालों में एयरटेल और पेटीएम के बाद आईपीपीबी तीसरी इकाई है। सेठी के मुताबिक आईपीपीबी अपने तंत्र की परख के लिए कई नजदीकी यूजर ग्रुप के साथ 250 से ज्यादा प्रयोग की शुरूआत की है।

1.55 लाख शाखाओं में शुरू होगी सेवा

सरकार का कहना है कि आईपीपीबी के तहत भारत में मौजूद लगभग 1.55 लाख डाकघर शाखा ग्राहकों के लिए अंतिम व्यक्ति तक पहुंच बनाने के मकसद से काम करेंगे। कुल 650 पेमेंट बैंक शाखा नियंत्रण कार्यालय के तौर पर काम करेंगी। यानी कि 650 पेमेंट्स बैंक के अलावा भी सारे डाकघरों में बैंकिंग सुविधा देने का विकल्प रहेगा। इसके अलावा आईपीपीबी में एक तय समय के अंदर 5,000 एटीएम भी शुरू करने की भी योजना है।

मिलेंगी यह सुविधाएं मुफ्त

इसके तहत एक लाख रुपये तक का बचत खाता, 25 हजार तक की जमा राशि पर पर 5.5 फीसदी ब्याज, चालू खाता और थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जैसी सुविधाएं मिलेंगी। वहीं आधार भुगतान का पता बन जाएगा। एक बार सेवा शुरू होने के बाद आईपीपीबी देश का सबसे बड़ा वित्तीय सेवा नेटवर्क बन जाएगा।

शहर, गांव में पोस्ट मैन पहुंचाएंगे डिजिटल सर्विस

पोस्ट मैन और ग्रामीण डाक सेवक शहरी और ग्रामीण इलाकों में डिजिटल भुगतान सेवा पहुंचाएंगे। 2015 में आरबीआई ने भारतीय पोस्ट को भुगतान बैंक के रूप में काम करने की सैद्धांतिक मंजूरी दी थी।

एटीएम कार्ड, एलर्ट मैसेज 

देश के अन्य बैंक अपने एटीएम कार्ड और इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा के लिए चार्ज करते हैं,  लेकिन पोस्ट ऑफिस पेमेंट बैंक के उपभोक्ता को एटीएम लेने के लिए आपको किसी तरह का कोई शुल्क नहीं देना होगा।

इसी तरह मोबाइल अलर्ट के लिए भी बैंक कोई शुल्क नहीं लेगा। अभी ज्यादातर बैंक 25 रुपए से लेकर 50 रुपए तक एसएमएस अलर्ट के लिए शुल्क वसूलते हैं। इसी तरह तिमाही बैलेंस मेंटेन करने के लिए भी कोई चार्ज नहीं देना पड़ेगा।

Loading...
loading...