Monday , November 19 2018
Loading...

तेज रफ्तार कार ने बाइक सवार परिवार को रौंदा

खरड़ के लांडरां-चुन्नी रोड पर मंगलवार देर शाम एक दर्दनाक हादसा हो गया। तेज रफ्तार क्रूज कार ने सामने से आ रहे एक बाइक सवार परिवार को हिट कर दिया। हादसे में बाइक सवार दंपति और उनके पांच साल के बेटे की मौत हो गई। हादसे के बाद कार बेकाबू होकर सड़क में पलट गई। इसके बाद लोगों ने इकट्ठे होकर कार को सीधा किया। साथ ही कार चालक को निकाला।

मृतकों की पहचान इंद्रमाता (35), उसकी पत्नी मीरा देवी (30) और बेटे सोनू (5) निवासी गांव मेहदूदा फतेहगढ़ साहिब के रूप में हुई है। इंद्रमाता पेशे से मजदूरी करता था। कार चालक की पहचान जश्नप्रीत पुत्र गुरदीप सिंह गांव भदौषी खुर्द जिला फतेहगढ़ साहिब के रूप में हुई। मजात चौकी पुलिस ने आरोपी को मौके से गिरफ्तार कर केस दर्ज कर लिया है।

हादसा मंगलवार शाम साढ़े छह बजे लांडरां-चुन्नी रोड पर स्वाड़ा बस स्टैंड के सामने हुआ। बाइक सवार दंपति अपने बेटे के साथ किसी धार्मिक स्थान से माथा टेककर वापस गांव आ रहे थे। जबकि हरियाणा नंबर का क्रूज कार सवार युवक चुन्नी साइड से चंडीगढ़ की तरफ आ रहा था। मौके पर मौजूद लोगों ने आरोप लगाया कि कार चालक ने ड्रिंक कर रही थी। साथ ही कार बहुत तेज थी। कार ने बड़ी तेज गति से बाइक को हिट किया।

Loading...

बाइक सवार फैमिली बड़ी जोर से ऊपर उछलकर नीचे गिरी। हादसे में पांच वर्षीय बच्चे की एक टांग कटकर अलग हो गई थी। हादसे में पिता-पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई थी। दोनों को एंबुलेंस से खरड़ अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बच्चे की मां में हादसे के बाद सांसें चल रही थीं। ऐेसे में कोई व्यक्ति उसे सीधे फेज-छह अस्पताल ले गया था। जहां पर उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

loading...

हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे पिता 
जैसे ही हादसे की सूचना मृतकों के परिजन को मिली तो वो भी पहुंच गए। इस मौके पर इंद्रराम के पिता दशरथ माता ने बताया उनका आज सारा परिवार टूट गया है। उन्हें समझ ही नहीं आ रहा है कि आखिर इस बुढ़ापे में उनका क्या होगा। उन्हें पता होता कि ऐसा कुछ होने वाला है, तो अपने बच्चे को कभी नहीं भेजते।

कई मन्नतों के बाद हुआ था बेटा 
दशरथ माता ने बताया कि उनके बेटे की दो बेटियां हैं, जिनमें लक्ष्मी नौ साल और मनीषा सात साल की है। काफी समय बाद उनके यहां बेटा हुआ था। अब पूरा परिवार संपूर्ण था। अब उन्हें समझ नहीं आ रहा कि आखिरी क्या हो गया है।

Loading...
loading...