Thursday , September 20 2018
Loading...
Breaking News

10 साल बाद कश्मीर को मिला नया राज्यपाल

सतपाल मलिक हिंसाग्रस्त और राजनीतिक तौर पर अनिश्चितता के हालात से जूझ रहे जम्मू-कश्मीर के नए राज्यपाल होंगे। वह दस साल से राज्य के राज्यपाल पूर्व अफसरशाह एनएन वोहरा की जगह लेंगे। मलिक को जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल बनाकर सरकार ने सूबे में किसी राजनीतिक शख्स को भेजने की योजना पर अमल किया है। वह अब तक बिहार के राज्यपाल थे।

अब तक जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल के लिए पूर्व सैन्य अधिकारी या अफसरशाह को ही नियुक्त किया जाता रहा है। पहली बार किसी राजनीतिक व्यक्ति को सूबे का राज्यपाल बनाया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को मलिक समेत सात राज्यपालों की नियुक्ति और तबादले पर हस्ताक्षर किए।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता वरिष्ठ नेता लालजी टंडन को बिहार का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है। सत्यदेव नारायण आर्य हरियाणा के नए राज्यपाल होंगे। हरियाणा के मौजूदा राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी को त्रिपुरा का राज्यपाल बनाया गया है।

Loading...

राष्ट्रपति ने बेबी रानी मौर्या को उत्तराखंड की नई राज्यपाल नियुक्त किया है। मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद को सिक्किम का गवर्नर बनाकर भेजा है। त्रिपुरा के राज्यपाल तथागत राय को गंगा प्रसाद की जगह मेघालय भेजा गया है।

loading...
यहां देंखे कौन कहां के राज्यपाल बने?
राज्यपाल     राज्य
लालजी टंडन बिहार
सत्यपाल मलिक जम्मू-कश्मीर
गंगा प्रसाद सिक्किम
सत्यदेव नारायण आर्य हरियाणा
बेबी रानी मौर्य  उत्तराखंड
तथागत रॉय मेघालय
कप्तान सिंह सोलंकी त्रिपुरा
लालजी टंडन: 
लालजी टंडन को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता के तौर पर जाना जाता है। टंडन का जन्म 12 अप्रैल 1935 में हुआ है। लालजी टंडन पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के काफी करीबी रहे हैं। वाजपेयी के राजनीति से संन्यास लेने के बाद वर्ष 2009 में टंडन लखनऊ से लोकसभा का चुनाव लड़े और जीत दर्ज कर सांसद बने। लालजी टंडन उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकारों में मंत्री पद पर भी रहे हैं। उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत वर्ष 1960 से की। टंडन दो बार विधान परिषद के सदस्य रहे।

सत्यपाल मलिक : 
सत्यपाल मलिक भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रह चुके हैं। उन्हें 30 सितंबर 2017 को बिहार का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। इससे पहले वह अलीगढ़ सीट से 1989 से 1991 तक जनता दल की तरफ से सांसद रहे। इसके बाद साल 1996 में समाजवादी पार्टी की ओर से चुनाव लड़ा, लेकिन हार का सामना करना पड़ा। मेरठ के एक कॉलेज से उन्होंने पढ़ाई की है।

बेबी रानी मौर्याः
भाजपा की पुरानी नेत्री बेबी रानी मौर्या को बड़े ओहदे से नवाजा गया है। उन्हें उत्तराखंड का राज्यपाल बनाया गया है। वे प्रदेश में कद्दावर नेता हैं। बेबी रानी मौर्या आगरा के बालूगंज में रहती हैं। उनका राजनीतिक कद बहुत बड़ा है। वे आगरा की मेयर रह चुकी हैं। पूर्व में राज्य महिला आयोग की सदस्य भी रह चुकी हैं। वर्तमान में यूपी बाल आयोग की सदस्य हैं। उन्हें बड़े पद मिलने की चर्चा जोरों पर थी। बेबी रानी मौर्या एमए, बीएड हैं। फिलहाल वे अमेरिका गई हुई हैं। उनके राज्यपाल बनने की सूचना के बाद घर व आसपास खुशी का माहौल है।

Loading...
loading...