X
    Categories: राष्ट्रीय

मदद के लिये भेजे गये सामान से GST और कस्टम ड्यूटी हटाई गई

केरल में बाढ़ ने ज़बरदस्त तबाही मचाई है. अब तक 300 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है जिसमें 8 अगस्त से 20 अगस्त तक के बीच 222 लोगों की मौत हुई है. 10 लाख से ज़्यादा लोग राहत शिविरों में हैं. केंद्र ने केरल की आपदा को गंभीर स्तर का माना है साथ ही मदद के लिए भेजे गए सामान में जीएसटी और कस्टम ड्यूटी को हटा लिया है. वहीं बारिश थमने के बाद अब पानी उतर रहा है और प्रभावित इलाक़ों से 95 फ़ीसदी लोगों को निकाल लिया गया है. अब पूरा ज़ोर राहत पहुंचाने पर है. सेना, NDRF के लोग अब प्रभावितों तक राहत पहुंचाने में जुटे हैं. कई सरकारी और ग़ैर सरकारी एनजीओ भी राहत के काम में लगे हुए हैं.

बाढ़ का पानी उतरने के साथ ही अब महामारी का ख़तरा शुरू हो गया है. कुछ राहत शिविरों से लोगों के बीमार होने की ख़बर भी आ रही है. केंद्र की ओर से डॉक्टरों की टीम केरल भेजी गई है और कई राज्य भी अपने यहां से डॉक्टरों की टीम केरल भेज रहे हैं पूरे राज्य में 3700 मेडिकल कैंप बनाए गए हैं. कल ग़ाज़ियाबाद के हिंडन एयरबेस से राहत सामग्री और दवाइयों से लदे विमान को केरल के लिए रवाना गया. ये राहत सामग्री और दवाइयां केंद्र की ओर से भेजी गई हैं. पीएमओ ख़ुद राहत अभियान पर नज़र बनाए हुए है.

Loading...

दूर-दराज़ के प्रभावित इलाक़ों तक राहत सामग्री पहुंचाने की कोशिश जारी है. हालांकि ज़्यादातर इलाक़ों में जो मदद पहुंच रही है, वो लोगों की ज़रूरत के मुताबिक़ काफ़ी कम पड़ रही है.

loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.