Friday , November 16 2018
Loading...

कार्यकर्ताओं से वार्ता में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कही ये बड़ी बात कि…

उत्तर प्रदेश के मेरठ में दो दिनों तक चले प्रदेश भाजपा कार्यसमिति की बैठक में बीजेपी ने 2019 के चुनाव के लिए रोडमैप तैयार किया। इस दौरान गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। बैठक में राजनीतिक एजेंडे पर खुलकर चर्चा तो हुई है। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने भी अपनी शिकायतें, दिक्कतें पार्टी आलाकमान के सामने रखी। गृह मंत्री ने इन कार्यकर्ताओं को बड़े प्यार और सकारात्मकता के साथ समझाया। राजनाथ ने कहा कि आपकी किस्मत में जो है वो इस जन्म तो अगले जन्म में जरूर मिलेगा। दरअसल कई कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरकार में उनके काम नहीं होते हैं, उन्हें राज्य में सरकार और संगठन में महत्व नहीं दिया जाता है।

Image result for कार्यकर्ताओं से वार्ता में राजनाथ ने कही ये बड़ी बात कि...

ऐसे कार्यकर्ताओं की शिकायत सुन रहे राजनाथ सिंह ने उन्हें समझाया। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके राजनाथ सिंह ने कहा कि कार्यकर्ताओं को पार्टी के सामने हाथ नहीं फैलाना चाहिए, बल्कि संगठन को अपना सब कुछ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि आपकी किस्मत में जो कुछ है वो आपको जरूर मिलेगा, अगर इस जन्म में नहीं तो अगले जन्म में मिलेगा। राजनाथ सिंह की ये टिप्पणी कार्यकर्ताओं के बीच काफी चर्चा का विषय रही। बता दें कि बीजेपी के वरिष्ठ पंक्ति के नेताओं में शुमार राजनाथ सिंह 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी के पीएम पद के दावेदारों में शामिल हुआ करते थे। हालांकि 2014 लोकसभा चुनाव से पहले बतौर बीजेपी के अध्यक्ष उन्होंने खुद ही नरेंद्र मोदी को पीएम पद का कैंडिडेट घोषित किया था। वर्तमान मोदी सरकार में वे कथित तौर पर नंबर दो माने जाते हैं।

Loading...

मेरठ के सुभारती विश्वविद्यालय के शहीद मातादीन वाल्मीकि परिसर में हुए प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में बीजेपी ने कार्यकर्ताओं को 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए तैयार होने को कहा। भाजपा के युवा संगठन के पश्चिम प्रभारी विजय बहादुर पाठक ने संवाददाता सम्मेलन कर संगठन की कार्य योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 2019 के चुनाव के लिए पार्टी ने पूरा रोडमैप तैयार किया है। 16 से 30 अगस्त के बीच उत्तर प्रदेश के सभी एक लाख 60 हजार बूथों पर बनाई गई भाजपा की बूथ कमेटी के पदाधिकारी बारीकी से समीक्षा करेंगे। उन्होंने पार्टी के कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि एक सितंबर से 15 सितंबर के बीच सभी 80 लोकसभा सीटों पर संचालन टोलियों की बैठक होगी। जो मतदाता छूट गए हैं उन सभी के 30 सितंबर तक अभियान चलाकर वोटर बनवाए जाएंगे।

loading...
Loading...
loading...