Wednesday , September 26 2018
Loading...
Breaking News

ममता का महिला आयोग ने किया अंतिम संस्कार

अंतरजातीय विवाह करने वाली ममता की हत्या के तीन दिन बाद राज्य महिला आयोग ने प्रशासन के सहयोग से शनिवार शाम रामबाग श्मशान घर में उसका अंतिम संस्कार किया। कड़ी सुरक्षा के बीच ममता के चचेरे भाई राकेश उर्फ नान्हा निवासी गद्दी खेड़ी ने जहां मुखाग्नि दी, वहीं लड़के पक्ष की तरफ से भी कुछ लोग संस्कार में शामिल हुए। अंतिम संस्कार के दौरान महिला आयोग की तरफ से ‘शहीद ममता अमर रहे’ के नारे लगाए गए। हत्यारों को कड़ी सजा देने की मांग रखी। वहीं, प्रशासन अब भी ममता को अविवाहित मान रहा है। श्मशान घर के रजिस्टर में नाम ममता पुत्री रमेश निवासी श्याम कॉलोनी लिखवाया गया है।

Image result for ममता का महिला आयोग ने किया अंतिम संस्कार

जेएमआईसी मानसी गौड़ की अदालत ने दोपहर बाद जिला प्रशासन को हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार करने का अधिकार दिया। डीसी ने एसडीएम रोहतक राकेश कुमार की ड्यूटी तय की। साथ ही प्रदेश महिला आयोग, जनवादी महिला समिति व दूसरे सामाजिक संगठनों के अलावा लड़की व लड़के पक्ष के लोगों को अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजा। तय हुआ कि ठीक 6:30 बजे शीला बाइपास के नजदीक रामबाग श्मशान घर में ममता का अंतिम संस्कार होगा। पीजीआई के डेड हाउस से एसडीएम राकेश कुमार व रेडक्रॉस सोसायटी सचिव देवेंद्र चहल पुलिस सुरक्षा में 6 बजकर 54 मिनट पर शव लेकर श्मशान घर पहुंचे। यहां पहले से महिला आयोग की अध्यक्ष प्रतिभा सुमन, जनवादी महिला समिति की राष्ट्रीय सचिव डॉक्टर जगमति सांगवान, पारस जन कल्याण समिति के पदाधिकारी व वरिष्ठ अधिवक्ता डॉक्टर दीपक भारद्वाज मौजूद थे।

Loading...

शहीद की तरह अर्पित किया गया पुष्प चक्र, ममता अमर रहे के लगे नारे
अंतरजातीय विवाह करने वाली ममता के शव को लाल रंग के कपड़े में लपेट कर संस्कार के लिए लाया गया। यहां महिला आयोग की पदाधिकारियों, एसडीएम राकेश कुमार, डीएसपी रमेश कुमार व दूसरे सामाजिक संगठनों ने पुष्प अर्पित किए। महिला आयोग की तरफ से शहीद की तरह पुष्प चक्र अर्पित किया गया। इसके बाद आयोग की अध्यक्ष प्रतिमा सुमन, उपाध्यक्ष प्रीति भारद्वाज, सदस्य सोनिया अग्रवाल, इंदु यादव, कुसुम राणा व दूसरी महिलाओं ने अर्थी को कंधा दिया। अर्थी उठाकर ले जाते समय ममता अमर रहे के नारे लगाए। इसके साथ ही महिलाओं ने कहा कि तब तक चुप नहीं बैठेंगे, जब तक दोषियों को सजा नहीं मिलेगी।

loading...

ममता के चचेरे भाई ने दी मुखाग्नि, जल अर्पण की निभाई रस्म
अंतिम संस्कार के दौरान नाबालिग होते हुए सिंहपुरा निवासी सोम के साथ आर्य समाज मंदिर दिल्ली में शादी करने वाली ममता की चिता को उसके चचेरे भाई राकेश उर्फ नान्हा ने मुखाग्नि दी। इसके बाद चिता के चारों तरफ जल अर्पण व दूसरी रस्म अदा की गई। हालांकि, उस समय लड़के पक्ष की ओर से भी लोग भी मौजूद रहे।

श्मशान घर के रजिस्टर में लिखा, ममता पुत्री रमेश निवासी श्याम कॉलोनी
जिला प्रशासन अब भी ममता को अविवाहित मान रहा है। रामबाग श्मशान घर के रजिस्टर में ममता पुत्री रमेश, निवासी श्याम कॉलोनी, उम्र 18 साल लिखा हुआ है। जबकि पुलिस जांच में खुलासा हुआ है कि ममता की हत्या के आरोप में गिरफ्तार उसके जन्म देने व गोद लेने वाले माता-पिता ऐसा कोई सबूत नहीं दे सके कि उन्होंने कानूनी तौर पर गोद लेने की प्रक्रिया पूरी की है।

Loading...
loading...