Wednesday , September 26 2018
Loading...
Breaking News

ये हैं भारत सरकार के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार

भारत में शौर्य, कर्म, कौशल और सेवा की अनंत गाथाएं भरी पड़ी हैं। बलिदान का भी कोई पैमाना नहीं है। हम उन लोगों से भी अपनी आंखें फेर नहीं सकते जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त कर हमारे देश का गौरव बढ़ाया है और हमें अंतरराष्ट्रीय पहचान और मान्यता दिलाई है।
Related image

भारत में अलग-अलग क्षेत्रों में पदक और सम्मान से ऐसे लोगों को नवाजा जाता है। इसमें से कुछ राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार होते हैं और कुछ अंतरराष्ट्रीय स्तर के। भारत सरकार का सर्वोच्च सम्मान है भारत रत्न है। आइए जानते हैं भारत में कौन-कौन से पुरस्कार प्रमुख तौर पर दिए जाते हैं।

भारत के अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

Loading...

अंतरराष्ट्रीय गांधी शांति पुरस्कार: भारत सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय गांधी शांति पुरस्कार भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नाम पर दिया जाने वाला वार्षिक पुरस्कार है। गांधी जी के शांति सिद्धांतों को श्रद्धांजलि स्वरूप, भारत सरकार ने यह पुरस्कार 1995 में उनके 125वें जन्म-दिवस पर आरंभ किया था। यह वार्षिक पुरस्कार उन व्यक्तियों या संस्थाओं को दिया जाता है, जिन्होंने सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक बदलावों को अहिंसा एवं अन्य गांधीवादी तरीकों द्वारा प्राप्त किया है।

loading...

पुरस्कार में 1 करोड़ रुपये की धनराशि, प्रशस्ति पत्र और एक उत्तरीय दी जाती है जो किसी भी देश की मुद्रा में परिवर्तित हो जाती है। यह सभी राष्ट्रों, जातियों, लिंग एवं समुदाय के लोगों के लिए खुला है। प्रथम गाँधी शांति पुरस्कार 1995 में तंजानिया के पहले राष्ट्रपति के जूलियस नायरेरे को प्रदान किया गया था। 2009 में यह पुरस्कार द चिल्ड्रन्स लीगल सेंटर को दुनिया भर में बाल मानवाधिकार को बढ़ावा देने के लिए दिया गया।

इस पुरस्कार के लिए लोगों का चयन भारत के प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, भारत के मुख्य न्यायाधीश एवं 2 उत्कृष्ट लोग मिलकर करते हैं। इस पुरस्कार के लिए पूरे विश्व से कोई भी अपना आवेदन कर सकता है। ये पुरस्कार अब तक कुल 12 हस्तियों को दिया गया है।

इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार: इंदिरा गाँधी शांति पुरस्कार भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद में दिया जाता है। 1984 में उनकी हत्या कर दी गई थी। उनकी स्मृति में स्थापित ‘इंदिरा गांधी मेमोरिल ट्रस्ट’ द्वारा वर्ष 1986 से ‘इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार’ प्रति वर्ष विश्व के किसी ऐसे व्यक्ति को प्रदान किया जाता है जिसने समाज सेवा, निरस्त्रीकरण या विकास के कार्य में महत्वपूर्ण योगदान किया हो। इस पुरस्कार के अंतर्गत 25 लाख रुपए नकद, एक ट्रॉफी और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।

भारत के राष्ट्रीय पुरस्कार (नागरिक पुरस्कार)

भारत रत्न : भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। यह सम्मान राष्ट्र सेवा के लिए दिया जाता है। इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल के साथ ही सैन्य क्षेत्र भी शामिल मिल है। इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी।

प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान 1955 में जोड़ा गया। तत्पश्चात 13 व्यक्तियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया, एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है।

भारत रत्न के लिए योग्य व्यक्ति का नाम खुद प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति सुझाते हैं। इस पुरस्कार के रूप में दिए जाने वाले सम्मान की मूल विशिष्टि में 35 मिलिमीटर व्यास वाला गोलाकार स्वर्ण पदक, जिस पर सूर्य और ऊपर हिन्दी भाषा में ‘भारत रत्न’ तथा नीचे एक फूलों का गुलदस्ता बना होता है पीछे की ओर शासकीय संकेत और आदर्श-वाक्य लिखा होता है। इसे सफेद फीते में डालकर गले में पहनाया जाता है।  सरकार ने अब तक 41 लोगों को भारत रत्न से सम्मानित किया है।

पद्म पुरस्कार : पद्म पुरस्कार भी भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक हैं। ये पुरस्कार, विभिन्न क्षेत्रों जैसे कला, समाज सेवा, लोक-कार्य, विज्ञान और इंजीनियरी, व्यापार और उद्योग, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, खेल-कूद, सिविल सेवा इत्यादि के संबंध में प्रदान किए जाते हैं।

ये पुरस्कार प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर उद्घोषित किये जाते हैं तथा सामान्यतः मार्च/अप्रैल माह में राष्ट्रपति भवन में आयोजित किये जाने वाले सम्मान समारोहों में भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किये जाते हैं। पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों में प्रदान किए जाते हैं।

पद्म विभूषण : असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है।

पद्म भूषण : उत्कृष्ट कोटि की विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है।

पद्म श्री : किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के फलस्वरूप प्रदान किया जाता है।

महिलाओं के लिए स्त्री शक्ति पुरस्कार दिया जाता है।

बच्चों को दिए जाने वाले पुरस्कार 

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार : राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार भारत में हर वर्ष 26 जनवरी की पूर्व संध्या पर 8 से 16 वर्ष के आयु वर्ग के बहादुर बच्चों को दिए जाते हैं। भारतीय बाल कल्याण परिषद ने 1957 में ये पुरस्कार शुरू किये थे। पुरस्कार के रूप में एक पदक, प्रमाण पत्र और नकद राशि दी जाती है।

सभी बच्चों को विद्यालय की पढ़ाई पूरी करने तक वित्तीय सहायता भी दी जाती है। 26 जनवरी के दिन ये बहादुर बच्चे हाथी पर सवारी करते हुए गणतंत्र दिवस परेड में सम्मिलित होते हैं। इसे नेशनल ब्रेवरी अवार्ड इंडियन काउंसिल फॉर चाइल्ड वेलफेयर (आईसीसीडब्लू) आर्गनाइज्ड करता है।

इस सम्मान के लिए एक हाई-पावर कमेटी बनाई जाती है। इस कमेटी में 36 सदस्य होते हैं। इस कमेटी में राष्ट्रपति भवन, आईसीसीडब्लू, रक्षा मंत्रालय, सामाजिक न्याय मंत्रालय, आईपीएस ऑफिसर, बच्चों से जुड़े एनजीओ के सदस्य होते हैं।

राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान: 09 से 16 वर्ष के आयु वर्ग के रचनात्मक अभिव्यक्ति (रचनात्मक प्रदर्शन, रचनात्मक कला, रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचारों, रचनात्मक लेखन) के लिए भारत सरकार द्वारा प्रदत्त सम्मान है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (भारत सरकार ) के स्वायत्त निकाय द्वारा राष्ट्रीय बाल भवन द्वारा दिए जाने वाले सम्मान में एक पट्टिका, एक प्रमाण पत्र शैक्षिक संसाधन और नकद पुरस्कार सम्मिलित हैं।

राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान प्रायः नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। बालश्री सम्मान भारत के 3 राष्ट्रपति पुरस्कारों में से एक है, बाल श्री देश का सर्वोच्च बाल पुरस्कार हैं। बालश्री सम्मान की रूपरेखा 1993 में बनी और 1995 में यह पुरस्कार शुरू किया गया।

भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले वीरता पदकों की सूची

स्वतंत्रता के बाद भारत में वीरता पदकों की नयी परंपरा प्रारम्भ की गयी, जिसके तहत परमवीर चक्र, महावीर चक्र,अशोक चक्र, शौर्य चक्र जैसे पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं | परमवीर चक्र युद्धकाल के दौरान सैन्यकर्मियों द्वारा प्रदर्शित अद्भुत एव असाधारण वीरता के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च वीरता पदक है |

भारतीय वीरता पदकों का विवरण:

1. युद्धकाल के दौरान प्रदान किए जाने वाले वीरता पदक : परमवीर चक्र, महावीर चक्र, वीर चक्र

2. शांतिकाल के दौरान प्रदान किए जाने वाले वीरता पदक : अशोक चक्र, कीर्ति चक्र, शौर्य चक्र

3. विशिष्ट सेवा मेडल : सेना मेडल (थल सेना), नौसेना मेडल (नौसेना), वायुसेना मेडल (वायु सेना)

परमवीर चक्र : परमवीर चक्र युद्धकाल के दौरान सैन्यकर्मियों द्वारा प्रदर्शित असाधारण वीरता के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च वीरता पदक है। इसकी शुरुआत 26 जनवरी,1950 को की गई थी। परमवीर चक्र मरणोपरांत भी प्रदान किया जा सकता है।

महावीर चक्र : महावीर चक्र युद्धकाल के दौरान सैन्यकर्मियों द्वारा स्थल, जल या वायु में प्रदर्शित अद्भुत वीरता के लिए दिया जाने वाला द्वितीय सर्वोच्च वीरता पदक है। महावीर चक्र को मरणोपरांत भी प्रदान किया जा सकता है। 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान सबसे अधिक महावीर चक्र प्रदान किए गए थे। इस युद्ध में 11 महावीर चक्र वायु सैन्यकर्मियों को प्रदान किए गए थे।

वीर चक्र : वीर चक्र युद्धकाल के दौरान सैन्यकर्मियों द्वारा प्रदर्शित अद्भुत वीरता के लिए दिया जाने वाला तीसरा सर्वोच्च वीरता पदक है | विक्टोरिया क्रॉस (V.C.) से अलग दर्शाने के लिए वीर चक्र का संक्षिप्ताक्षर ‘Vr.C.’ रखा गया है।

अशोक चक्र : अशोक चक्र सैन्यकर्मियों के अलावा अन्य नागरिकों को भी प्रदान किया जा सकता है। यह शांतिकाल के दौरान प्रदर्शित अद्भुत वीरता के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च वीरता पदक है। अशोक चक्र को मरणोपरांत भी प्रदान किया जा सकता है। इन पदकों की घोषणा वर्ष में दो बार की जाती है और गणतन्त्र दिवस (26 जनवरी) व स्वतन्त्रता दिवस (15 अगस्त) के अवसर पर प्रदान किए जाते हैं।

कीर्ति चक्र : यह शांतिकाल के दौरान प्रदर्शित अद्भुत वीरता या आत्म बलिदान के लिए दिया जाने वाला द्वितीय सर्वोच्च वीरता पदक है। कीर्ति चक्र सैन्यकर्मियों के अलावा अन्य नागरिकों को भी प्रदान किया जा सकता है। कीर्ति चक्र को मरणोपरांत भी प्रदान किया जा सकता है। वर्ष 1967 से पूर्व तक इसे अशोक चक्र, श्रेणी-II के नाम से जाना जाता था।

शौर्य चक्र : शौर्य चक्र शांतिकाल के दौरान प्रदर्शित अद्भुत वीरता या आत्म बलिदान के लिए दिया जाने वाला तृतीय सर्वोच्च वीरता पदक है। शौर्य चक्र सैन्यकर्मियों के अलावा अन्य नागरिकों को भी प्रदान किया जा सकता है। शौर्य चक्र को मरणोपरांत भी प्रदान किया जा सकता है। वर्ष 1967 से पूर्व तक इसे अशोक चक्र, श्रेणी-III के नाम से जाना जाता था। वीरता पदकों के श्रेणी क्रम में शौर्य चक्र के बाद विशिष्ट सेवा मेडलों की श्रेणी शामिल है।

प्रमुख देशों द्वारा प्रदान किए जाने वाले सर्वोच्च वीरता पदकों की सूची-

1. भारत -परमवीर चक्र
2. इटली -मेडल फॉर वेलोर (Medal for valor)
3. जर्मनी -आयरन क्रॉस (Iron cross)
4. जापान -ऑर्डर ऑफ द राइजिंग सन (Order of the rising sun)
5. यूनाइटेड किंगडम -विक्टोरिया क्रॉस (Victoria Cross)
6. फ्रांस -क्रिओसे दे गुएरे (Criose de guere)
7. संयुक्त राज्य अमेरिका -मेडल ऑफ ऑनर (Medal of Honour)

खेल के क्षेत्र में दिए जाने वाले पुरस्कार
राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार
अर्जुन पुरस्कार
द्रोणाचार्य पुरस्कार
ध्यानचंद्र पुरस्कार

फिल्म जगत में दिए जाने वाले पुरस्कार
दादा साहेब फाल्के पुरस्कार
राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार
अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म अकादमी सम्मान (आईफा)

साहित्य के क्षेत्र में दिए जाने वाले पुरस्कार
ज्ञानपीठ पुरस्कार
साहित्य अकादमी फेलोशिप
साहित्य अकादमी पुरस्कार
महापंडित राहुल सांकृत्यायन पुरस्कार
गंगाशरण सिंह पुरस्कार
गणेश विद्यार्थी पुरस्कार
आत्माराम पुरस्कार
सुब्रह्मण्यम भारती पुरस्कार
डॉ. जॉर्ज ग्रियर्सन पुरस्कार
पदमभूषण डॉ. मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार
मूर्तीदेवी सम्मान
नवलेखन सम्मान
सरस्वती सम्मान

Loading...
loading...