Monday , September 24 2018
Loading...
Breaking News

इस दिग्गज अभिनेत्री का 62 की उम्र में निधन

फिल्म एवं टीवी अभिनेत्री रीता भादुड़ी का मंगलवार को निधन हो गया। वह 62 वर्ष की थीं। वह इन दिनों टीवी धारावाहिक ‘निमकी मुखिया’ में दादी की भूमिका को लेकर लोकप्रिय थीं।

Related image

अस्पताल से एक सूत्र ने उनके निधन की जानकारी दी, जहां उन्हें पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से भर्ती कराया गया था।

Loading...

रीता विले पार्ले के सुजय अस्पताल में भर्ती थीं। उनकी किडनी कमजोर थीं और वह डायलिसिस पर थी।

loading...

सूत्र ने आईएएनएस से कहा,”उन्होंने रात लगभग 1.30 के आसपास दम तोड़ दिया और उनके परिवार के सदस्य सुबह 4 बजे के आसपास उनका शव ले गए।”

‘निमकी मुखिया’ के निर्माता और लेखक जामा हबीब का कहना है कि उन्हें आभास थे कि ऐसा कुछ होने जा रहा है।

हबीब ने आईएएनएस से कहा, “हम पिछले सप्ताह अस्पताल में थे। उनकी स्थिति अच्छी नहीं थी। हमने उनके निधन के कारण आज की शूटिंग स्थगित कर दी।”

वह कई टेलीविजन धारावाहिकों में भी नजर आ चुकी हैं, ‘निमकी मुखिया’ में वह परिवार की दादी इमरती देवी की भूमिका में नजर आ रही थीं।

उन्हें एक रत्न के रूप में वर्णित करते हुए हबीब ने कहा, “आखिरी बार शूटिंग उन्होंने लगभग 15 दिन पहले की थी। हम उनके ठीक होने का इंतजार कर रहे थे। आज उनकी अंत्येष्टि है। देखते हैं कि क्या कर सकते हैं।”

अपने पांच दशक के करियर में रीता ‘कभी हां कभी ना’, ‘क्या कहना’, ‘दिल विल प्यार व्यार’ और ‘मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकी हैं। उन्होंने गुजराती फिल्मों में भी काम किया है।

अभिनेता शिशिर शर्मा ने रीता के निधन की खबर अपने फेसबुक अकाउंट से दी।

उन्होंने लिखा “हमें आपको यह सूचित करते हुए बहुत अफसोस है कि रीता भादुड़ी हमारे बीच नहीं रहीं। बेहद दुखद है। हमने एक अद्भुत इंसान को खो दिया। हम सबके लिए वह मां की तरह थीं, हम आपको मिस करेंगे मां।”

उन्होंने बताया कि उनकी अंत्येष्टि मंगलवार दोपहर 12 बजे होगी।

‘निमकी मुखिया’ की अभिनेत्री शिवानी चक्रवर्ती ने कहा, “पिछले दो महीनों से, वह ठीक नहीं थी। बहुत याद आएंगी। सह-कलाकार से ज्यादा वह बहुत अच्छी इंसान थीं। मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा। वह मेरे परिवार की तरह थीं।”

धारावाहिक में उनकी बहू की भूमिका निभा रहीं गरिमा सिंह ने कहा, “हम एक ही कमरा शेयर करते थे। हम बहुत सारी बातें साझा करते थे। वह बहुत सकारात्मक इंसान थीं।”

Loading...
loading...