Sunday , November 18 2018
Loading...
Breaking News

मुख्यमंत्री योगी बोले: गजनवी नहीं सुहेलदेव की तर्ज पर चलेगा देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि युवा पीढ़ी को महाराजा सुहेलदेव से प्रेरणा लेनी चाहिए। सुहेलदेव ने महमूद गजनवी के भांजे सैयद सालार मसूद गाजी को मारकर हिंदू धर्म की रक्षा की, पर संकीर्ण सियासत करने वालों ने उनका नाम इतिहास से हटा दिया।
Image result for मुख्यमंत्री योगी बोले: गजनवी नहीं सुहेलदेव की तर्ज पर चलेगा देश

पिछली सरकारों ने सुहेलदेव को इतिहास के पन्नों से हटाकर देश की तरक्की व स्वाभिमान बढ़ाने में राजभर समाज के योगदान को समाप्त करने का प्रयास किया। लोग यह तय करें कि सुहेलदेव को याद करने वालों के साथ चलना है या गजनवी का साथ खड़े होने वालों के। सीएम ने ये बातें बुधवार को पीडब्ल्यूडी के विश्वश्वरैया सभागार में भाजपा के ‘राजभर समाज’ के प्रतिनिधि सम्मेलन में कही।

उन्होंने सपा व बसपा के साथ कांग्रेस पर भी निशाना साधा। कहा, देश व धर्म की रक्षा के लिए संघर्ष करने वाले महाराजा सुहेलदेव के सम्मान का ख्याल इनको क्यों नहीं आया। राजभर समाज को देश के स्वाभिमान व सम्मान से खिलवाड़ करने वालों को सबक सिखाने का संकल्प लेना होगा। वहीं, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मायावती जैसी नेताओं ने दलितों और पिछड़ों का काफी नुकसान किया।

Loading...

सम्मेलन को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय, राज्यमंत्री अनिल राजभर, प्रभारी बाबू राम निषाद, विजय बहादुर पाठक व बीएल वर्मा समेत कई अन्य नेताओं ने सम्मलेन को संबोधित किया।

loading...

सपा, बसपा और कांग्रेस का बहिष्कार करें

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दुनिया में देश का सम्मान बढ़ा है। राजभर समाज की जिम्मेदारी है कि परिवार, जाति और महजब की राजनीति कर देश का बंटाधार करने में जुटे दलों का लोकसभा चुनाव 2014 व विधानसभा चुनाव 2017 की तरह लोकसभा चुनाव 2019 में भी बहिष्कार करें।

भाजपा में ही राजभर समाज का सम्मान
मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा ने ही राजभर समाज को सम्मान दिया है। प्रदेश सरकार में अनिल राजभर मंत्री है। लोकसभा में हरिनारायण राजभर और राज्यसभा में भी सकलदीप राजभर को भाजपा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। सुहेलदेव के मान, सम्मान के लिए भी भाजपा लगातार काम कर रही है।

सीएम ने ओमप्रकाश राजभर पर भी साधा निशाना
योगी ने सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर का नाम लिए बगैर उनकी चुटकी भी ली। कहा, एक तरफ हम खुद को महाराजा सुहेलदेव का वंशज बताएं, दूसरी तरफ मोहम्मद गौरी और महमूद गजनवी को आदर्श मानने वालों से गुमराह होकर राष्ट्रवादियों पर हमले करें, यह नहीं चलेगा।

बहराइच के चित्तौड़ा में बनेगा सुहेलदेव का भव्य स्मारक
सीएम ने कहा कि बहराइच के चित्तौड़ा की मिट्टी में महक रही महाराजा सुहेलदेव की गाथा प्रदेश और देश की जनता भी सुन सके, इसके लिए वहां सुहेलदेव का ‘भारत विजय’ स्मारक बनाया जाएगा।

35 लाख विद्यार्थियों को दी गई छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति

कार्यक्रम में गुफ्तगू करते सीएम योगी व डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य। – फोटो : amar ujala
योगी ने कहा, विपक्षी छात्रवृत्ति के नाम पर अफवाह फैला रहे हैं। हकीकत यह है कि 2015-16 में पिछड़ी जाति के 1.25 लाख विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी गई थी। वर्ष 2016-17 में एक भी रुपया जारी नहीं किया गया, पर 2017 में भाजपा की सरकार बनते ही 35 लाख विद्यार्थियों के लिए दो वर्ष की छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति दी गई।

गठबंधन का गणित फेल कर देंगे पिछड़े व दलित : केशव
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मायावती ने दलितों व पिछड़ों के वोटों की कीमत पर राजनीति की। सत्ता मिलने पर दलित और पिछड़ी जातियों का नुकसान किया, जबकि भाजपा ने हमेशा दलित और पिछड़ों की चिंता की है। पिछड़े और गरीब घर के बेटे नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए देश में प्रतियोगिता चल रही है, पर दलित और पिछड़े मोदी के साथ हैं। 2019 के चुनाव में अति पिछड़ी और पिछड़ी जातियों के 50 प्रतिशत मत भाजपा को मिलेंगे तो सभी गठबंधन फेल हो जाएंगे। योगी सरकार ने 15 महीने में जो कार्य किए हैं, सपा और बसपा की दस वर्ष की सरकार में नहीं हो पाए। लोकसभा चुनाव में राजभर समाज को भाजपा का साथ देकर देश का स्वाभिमान और सम्मान बढ़ाने में अपनी भूमिका निभानी चाहिए।

कांग्रेस की आंखों में चुभता है राजभर समाज : पांडेय
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय ने कहा कि भाजपा हर कदम पर पिछड़ों के साथ है। राजभर समाज हमेशा से कांग्रेस के आंखों में चुभता रहा। कांग्रेस लंबे समय तक सत्ता में रही लेकिन ओबीसी आयोग को सांविधानिक दर्जा नहीं मिलने दिया। भाजपा ने हमेशा राजभर समाज को सामाजिक और राजनीतिक सम्मान दिया है। नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने में पिछड़ों का बड़ा योगदान रहा।

Loading...
loading...