Saturday , September 22 2018
Loading...
Breaking News

राज्यसभा उपसभापति पद चुनाव का क्या है गणित?

राज्यसभा के उपसभापति पद पर गुरुवार को होने वाले चुनाव के लिये सत्तापक्ष और विपक्ष के अधिकृत दोनों उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र भर दिया।
Image result for राज्यसभा
विपक्ष की ओर से कांग्रेस के बी के हरिप्रसाद को उम्मीदवार घोषित किये जाने के बाद इस पद के लिये चुनाव होना तय हो गया है। सत्तारूढ़ राजग की ओर से जदयू के हरिवंश नारायण को पहले ही उम्मीदवार घोषित किया जा चुका है।

राज्यसभा सचिवालय के सूत्रों ने हरिवंश और हरिप्रसाद के नामांकन पत्र के नोटिस मिलने की पुष्टि की है। हरिवंश की ओर से राज्यसभा महासचिव कार्यालय को मंगलवार को ही नामांकन का नोटिस मिल गया था। बुधवार को उन्होंने महासचिव देशदीपक वर्मा के समक्ष अपना नामांकन पत्र पेश किया।

हरिप्रसाद की ओर से भी बुधवार को नामांकन पत्र पेश किया गया। उम्मीदवारी की घोषणा के बाद हरिप्रसाद ने कहा कि पार्टी ने निश्चित रूप से काफी सोच विचार के बाद यह फैसला किया होगा। उन्होंने चुनाव में सकारात्मक परिणाम मिलने का विश्वास व्यक्त किया।

Loading...

इस बीस उच्च सदन में कांग्रेस उप नेता आनंद शर्मा ने जीत के लिये जरूरी मत मिलने का दावा करते हुये कहा कि संख्याबल उनके पक्ष में है। उन्होंने कहा कि किसी एक सदस्य के नाम पर सर्वानुमति नहीं बन पाने के कारण विपक्ष को चुनाव का विकल्प अपनाना पड़ा।

loading...

नामांकन पत्र पेश करने के बाद हरिवंश ने राजग की ओर से उन्हें उम्मीदवार बनाये जाने के लिये आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा ‘‘ मैं उन सभी लोगों के प्रति आभारी हूं जिन्होंने मुझे इस योग्य समझा।’’

उल्लेखनीय है कि उपसभापति पद के लिये गुरुवार को 11 बजे मतदान होगा। कांग्रेस के पी जे कुरियन के बीते एक जुलाई को सेवानिवृत्त होने के बाद से यह पद रिक्त है।

244 सदस्यीय उच्च सदन में उपसभापति चुनाव को जीतने के लिए 123 मतों की आवश्यकता पड़ेगी। यदि अन्नाद्रमुक (13), बीजद (नौ), टीआरएस (छह) और वाईएसआर कांग्रेस (दो) का समर्थन राजग को मिल जाता है तो उसके पास 126 मत हो जाएंगे।

उच्च सदन में भाजपा के 73 और कांग्रेस के 50 सदस्य हैं। भाजपा के सहयोगी जदयू, शिवसेना और अकाली दल के क्रमश: छह और तीन- तीन सदस्य हैं।

Loading...
loading...