Sunday , November 18 2018
Loading...
Breaking News

राजनिवास पर धरना देना केजरीवाल को अब पड़ेगा महंगा

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल के राजनिवास पर धरना देना अरविंद केजरीवाल को महंगा पड़ सकता है। इसे गैरकानूनी बताते हुए विपक्ष आज (9 अगस्त) को उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगा। दिल्ली हाईकोर्ट पहले ही केजरीवाल के धरने को असंवैधानिक करार दे चुका है।
Image result for राजनिवास पर धरना देना केजरीवाल को अब पड़ेगा महंगा

दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल बार-बार खुद को एनार्किस्ट कहते हैं। इस बात को उन्होंने तब साबित भी कर दिया जब वे राज्यपाल के निवास पर धरना देने जा पहुंचे। उनके धरने को कोर्ट भी अनुचित बता चुका है। ऐसे में उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे गुरुवार को अपने साथियों के साथ थाने जाकर रिपोर्ट दर्ज कराएंगे।

भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, मंत्री गोपाल राय और सतेंद्र जैन के साथ जाकर एलजी हाउस में धरना दिया। कोर्ट ने इसी मामले पर दायर एक याचिका की सुनवाई करते हुए कहा कि किसी के घर में जबरदस्ती जाकर धरना नहीं दिया जा सकता।

Loading...

गुप्ता ने कहा कि एक मुख्यमंत्री अपने ऑफिस नहीं आता है, बल्कि राजनिवास पर धरना देता है। इससे दोनों तरफ जनता को परेशानी होती है। एक तरफ तो एलजी आफिस पर आने वाली जनता का कार्य बाधित होता है तो वहीं पर दिल्ली के मुख्यमंत्री के अपने ऑफिस में न होने से भी जनता का नुकसान होता है। केजरीवाल अभी भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि वे जनता के प्रतिनिधि बन चुके हैं जिनकी पहली जिम्मेदारी जनता का काम करने की है। लेकिन वे अपनी इस जिम्मेदारी को निभा नहीं पाते हैं और इससे बचने के लिए दूसरों पर आरोप लगाते हैं कि उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है।

loading...

विजेद्र गुप्ता पर भी मामला दर्ज 
उधर खुद विजेंद्र गुप्ता पर भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के कार्यालय पर धरना देने के मामले में शिकायत दर्ज कराई गई है। दरअसल, जिस समय केजरीवाल ने एलजी हाउस पर धरना दिया था, उसी समय विजेंद्र गुप्ता और उनके अन्य साथियों ने मुख्यमंत्री से अपने काम पर आने के लिए धरना दिया था। गुप्ता के मुताबिक उन्हें इस बात के लिए धरना देना पड़ रहा था कि एक चुना हुआ जनप्रतिनिधि अपने कार्यालय नहीं आ रहा है। इससे जनता के कार्य बाधित हो रहे थे।

Loading...
loading...