Monday , September 24 2018
Loading...
Breaking News

आधार संख्या के सार्वजनिक होने से नहीं बढ़ता डिजिटल खतरा

ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने मंगलवार दावा किया कि केवल आधार नंबर जानने से किसी भी व्यक्ति की डिजिटल असुरक्षा नहीं बढ़ सकती है। गौरतलब है कि बीते कुछ दिन पहले शर्मा ने ट्विटर पर अपना आधार नंबर साझा कर चुनौती दी थी कि कोई नुकसान पहुंचाकर दिखाए।
Image result for आधार संख्या के सार्वजनिक होने से नहीं बढ़ता डिजिटल खतरा
शर्मा ने यह भी स्पष्ट किया था कि उनकी ओर से आधार नंबर ट्वीट करने के पीछे किसी को भी अपना आधार नंबर सार्वजनिक करने के लिए प्रेरित करना नहीं था। इस मामले पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए शर्मा ने कहा कि बायोमीट्रिक आईडी साझा, खुलासा या उसके बारे में जानकारी होने से किसी की भी डिजिटल असुरक्षा नहीं बढ़ती। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम के बाद भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआइ) को कहना पड़ा था कि कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर अपना आधार नंबर साझा न करे।

शर्मा एक कार्यक्रम से इतर बोल रहे थे जिसमें उन्होंने डू नॉट डिस्टर्ब (डीएनडी) एप और माईकॉल एप की घोषणा की। डीएनडी एप अनचाही कॉल्स के बारे में रिपोर्ट करता है और माईक़ल एप कॉल की गुणवत्ता के बारे में बताता है। यह दोनों एप उमंग प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध होंगे।

Loading...
loading...