Monday , August 20 2018
Loading...

मुजफ्फरपुर कांड की सीबीआई जांच हाईकोर्ट की निगरानी में होगी

मुजफ्फरपुर बालिका गृह केस मामले में विपक्ष के एकजुट होने के बाद अब उनकी सहयोगी पार्टी भाजपा ने भी नीतीश कुमार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी ठाकुर ने मांग की है कि सीबीआई जांच होने तक बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू शर्मा से इस्तीफा ले लेना चाहिए। लेकिन वहीं बिहार के उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने मंजू शर्मा का समर्थन किया है। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि भाजपा पूरी तरह से मंजू वर्मा के समर्थन में है। उन्होंने कहा कि मंजू के खिलाफ कोई आरोप नहीं है। साथ ही भाजपा ने कहा कि हम सीपी ठाकुर को गंभीरता से नहीं लेते हैं।
Image result for मुजफ्फरपुर कांड की सीबीआई जांच हाईकोर्ट की निगरानी में होगी

सीपी ठाकुर के इस बयान के बाद राजनीति तेज हो गई है। इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। इससे पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दो पत्र लिखे हैं। वहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को भी पत्र लिखा है। इस पर जदयू के एक नेता कहा हैं कि राजभवन को कलम उठाने की पठकथा कहीं और लिखी गई है। इसके पीछे बिहार भाजपा नहीं है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि यह सब दिल्ली के भाजपा मुख्यालय में हुआ हो। बता दें कि राज्यपाल के पत्र लिखने के बाद से ही यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

Loading...

हलांकि इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड पर कहा है कि जो गड़बड़ करेगा वह अंदर जाएगा। उसे बचाने वाला नहीं बख्शा जाएगा। वहीं दूसरी ओर ब्रजेश ठाकुर की कॉल डिटेल से खुलासा हुआ है कि उसके संबंध रसूखदारों से हैं। मामले की जांच कर रही सीबीआई को ठाकुर की कॉल डिटेल्स हाथ लगी है। जिसेक आधार पर अब आगे पूछताछ की जाएगी।

loading...

खबर के मुताबिक सीबीआई को ब्रजेश ठाकुर के तीन मोबाइल फोन की कॉल डिटेल्स मिली हैं। जिससे पता चला है कि ठाकुर मुजफ्फरपुर से लेकर पटना तक कई सफेदपोश लोगों के संपर्क में था। जांच टीम को समाज कल्याण विभाग से ठाकुर के एनजीओ से जुड़े पांच साल के दस्तावेज भी मिल गए हैं।

दस्तावेजों के मुताबिक ब्रजेश ठाकुर के तमाम एनजीओ को फंड देने के लिए नियमों का उल्लंघन किया गया है। सबूत मिलने के बाद सीबीआई ने समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों से संपर्क किया है। जिसके बाद एक दो दिन में सभी आरोपियों से पूछताछ की जाएगी। इन सब सबूतों के आधार माना जा रहा है कि ब्रजेश ठाकुर की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं।

Loading...
loading...