X
    Categories: पोल खोलराष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश के नारी संरक्षण गृह में हुआ देह व्यापार का बड़ा खुलासा, जाने क्या है ये माजरा

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की तरह ही देवरिया नारी संरक्षण गृह में भी देह व्यापार कराए जाने का खुलासा हुआ है. संरक्षण गृह से भागी एक बालिका ने रविवार शाम को यह जानकारी दी. रात में पुलिस ने छापा मारा तो संरक्षण गृह से 18 लड़कियां गायब मिलीं. पुलिस ने संचालिका  उसके पति को अरैस्ट कर लिया.

रविवार देर रात पुलिस अधीक्षक रोहन पी कनय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि मां विंध्यवासिनी महिला एवं बालिका संरक्षण गृह की सूची में 42 लडकियां दर्ज हैं. लेकिन छापे में मौके पर केवल 24 मिलीं. बाकी का पता किया जा रहा है. नारी संरक्षण गृह के बारे में लंबे समय से शिकायत मिल रही थी. अनियमितताओं के कारण इसकी मान्यता जून-2017 में खत्म कर दी गई थी. CBI ने भी संरक्षण गृह को अनियमितताओं में चिह्नित कर रखा है. संचालिका न्यायालय से स्थगनादेश लेकर इसे चला रही हैं.

एक बच्ची ने खोली पोल

एसपी ने बताया कि बिहार के बेतिया जिले की 10 वर्ष की बच्ची देर शाम को किसी तरह संरक्षण गृह से निकलकर महिला थाने पहुंची. वहां उसने  संरक्षण गृह की अनियमितताओं के बारे में जानकारी दी. बच्ची के मुताबिक, वहां शाम चार बजे के बाद प्रतिदिन कई लोग काले  सफेद रंग की कारों से आते थे  मैडम के साथ लड़कियों को लेकर जाते थे. वे देर रात लौटती थीं. संरक्षण गृह में भी गलत कार्य होता है. बच्ची ने बताया, उससे भी झाड़ू-पोंछा तथा घर के अन्य कार्य कराए जाते थे.

Loading...
एसपी ने बताया कि पुलिस ने रात में ही नारी संरक्षण गृह में छापा मारा. वहां रजिस्टर में अलग-अलग आयु वर्ग की 42 लड़कियां दर्ज हैं. मिलान करने पर 18 लड़कियां नहीं मिलीं. संचालिका गिरिजा त्रिपाठी  उनके पति मोहन इनके बारे में संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे हैं. दोनों को अरैस्टकर लिया गया है. पत्रकार बातचीत मेें एसपी के साथ जिला प्रोबेशन ऑफिसर प्रभात कुमार  बाल संरक्षण ऑफिसर जेडी तिवारी मौजूद थे.
Loading...
News Room :

Comments are closed.