Thursday , November 15 2018
Loading...
Breaking News

अब एप्पल के लिए 80-90 का दौर बहुत ही मुश्किलभरा

एप्पल आज भले ही संसार की पहली एक लाख करोड़ डॉलर (लगभग 68,620 अरब रुपये) की कंपनी बन गई है. अप्रैल-जून तिमाही के नतीजे आने के बाद कंपनी के शेयर 2.8 प्रतिशतचढ़कर 207.05 डॉलर पहुंच गए , लेकिन एक दौर भी था जब एप्पल के प्रोडक्ट्स मार्केट में बुरी तरह से मार खा रहे थे. एप्पल के लिए 80-90 का दौर बहुत ही मुश्किलभरा था. आज हम आपको एप्पल के ऐसे ही 10 प्रोडक्ट के बारे में बताएंगे जो पूरी तरह से फ्लॉप हो गए.
Image result for अब एप्पल के लिए 80-90 का दौर बहुत ही मुश्किलभरा

आइपॉड हाइ-फाई आइपॉड हाइ-फाई एक पोर्टेबल म्यूजिक प्लेयर था. हालांकि बेकार साउंड क्वालिटी की वजह से यह मार्केट में पिट गया था.

आइमैक एप्पल ने माउस का कॉन्सेप्ट पेश किया था  आइमैक नाम की एक डिवाइस बनाई थी. यह पॉइंटिंग डिवाइस थी, लेकिन यह उपयोग में बहुत ज्यादा मुश्किल एवं आकार में असुविधाजनक थी.

Loading...
एप्पल टीवी आज एप्पल टीवी की बिक्री हाथों-हाथ हो रही है लेकिन 1993 में जब स्टीव जॉब्स ने मैकिनटोश टीवी को मार्केट में पेश किया था, तब यह फ्लॉप साबित हुआ था. जॉब्स चाहते थे कि लोग डेस्कटॉप में ही टीवी का मजा लें. लेकिन इस डिवाइस की केवल 10000 यूनिट्स ही बिक पाई थीं.
पिपिन बंडाय कंपनी द्वारा बनाया गया पिपिन एक गेम कंसोल था. यह एप्पल का पहला गेमिंग प्रॉडक्ट था, जिसे 1997 में मार्केट में पेश किया गया था. इसकी केवल 42000 यूनिट्स ही बिक पाई थीं.
एप्पल 3 एप्पल 2 की सफलता के बाद कंपनी ने एप्पल 3 को बनाया लेकिन इसका डिजाइन असुविधाजनक होने की वजह से लोगों ने इसमें रुचि नहीं दिखाई  कंपनी को 14000 यूनिट्स वापस मंगवानी पड़ीं.
न्यूटन पीडीए 1987 में बनाया गया न्यूटन पीडीए 11 सालों तक चलन में रहा. हालांकि इसका उपयोग बहुत ज्यादा सीमित था.
क्विकटेक एप्पल ने क्विकटेक नाम से 1994 में पहला डिजिटल कैमरा लॉन्च किया था. लेकिन इसे समय से पहले उठाया गया कदम बोला जा सकता है, क्योंकि उस वक्त एनालॉग कैमरों का मार्केट चरम पर था  लोगों ने डिजिटल कैमरे में रुचि नहीं दिखाई. इस वजह से 1997 में कंपनी को इसका उत्पादन बंद करना पड़ा.
मैकिनटोश पोर्टेबल एप्पल का पहला लैपटॉप कम्प्यूटर मैकिनटोश पोर्टेबल नाम से लॉन्च किया गया था. इसमें बैटरी जीवन की समस्या तो थी ही, साथ ही 1989 में इसकी मूल्य भी बहुत ज्यादा ज्यादा थी. उस वक्त इसे 7,300 डॉलर में बेचा जाता था.
पावर मैक जी4 एप्पल का पहला पतला कम्प्यूटर था क्षमता मैक जी4. इसे वर्ष 2000 में लॉन्च किया गया था, लेकिन यह बहुत ज्यादा महंगा था. इसकी मूल्य 1,799 डॉलर थी. इसमें इंटरनल फैन न होने की वजह से यह कम्प्यूटर बहुत ज्यादा गरम हो जाता था. आखिरकार एक वर्ष के अंदर ही कंपनी को इस कम्प्यूटर का निर्माण बंद करना पड़ा था.
आरओकेआर ई1 आरओकेआर ई1 फोन का निर्माण मोटोरोला द्वारा किया जाता था. लेकिन यह पला फोन था, जो आइट्यून्स को सपोर्ट करता था. एप्पल ने वर्ष 2005 में आइट्यून्स को आधिकारिक रूप से लॉन्च किया था. इसकी स्टोरेज कैपेसिटी बहुत ज्यादा लिमिटेड थी  फाइल ट्रांसफर स्पीड भी बेहद धीमी थी. इन सब खामियों की वजह से कंपनी ने मोटोरोला से करार समाप्त कर दिया था.
Loading...
loading...