Friday , November 16 2018
Loading...

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी करने के बाद एचडीएफसी ने बढ़ाई ब्याज दरें

हाउसिंग डेवलपमेंट एंड फाइनेंस कॉरपोरेशन (एचडीएफसी) ने शुक्रवार को अपनी कर्ज दरों में 0.20 प्रतिशत की बढ़ोतरी कर दी. हाउसिंग फाइनेंस के एरिया की सबसे बड़ी कंपनी ने नियामकीय सूचना में बताया कि उसने अपनी रिटेल प्राइम लेंडिंग रेट (आरपीएलआर) में 20 आधार अंकों को बढ़ोतरी की है, जो एक अगस्त, 2018 से लागू हो गया है.
Image result for भारतीय रिजर्व बैंक

स्त्रियों को 30 लाख रुपये तक का लोन 8.70 प्रतिशत ब्याज दर तथा 30 लाख रुपये से अधिक का लोन 8.8 प्रतिशत ब्याज दर पर मिलेगा. अन्य ग्राहकों के लिए ब्याज दर पांच आधार अंक (0.05 फीसदी) अधिक होगा.

प्रभावित होगा घर खरीदना

Loading...

प्रापर्टी डेवलपर  सलाहकार मानते हैं कि प्रमुख नीतिगत दर रेपो में वृद्धि करने के रिजर्वबैंक के निर्णय से आवासीय इकाइयों की बिक्री प्रभावित हो सकती है. रेपो दर बढ़ने से आवास ऋण पर ब्याज दर बढ़ सकती है.

loading...

रिजर्वबैंक ने दो महीने में दूसरी बार प्रमुख नीतिगत दर रेपो में 0.25 फीसदी की वृद्धि की है. रिजर्वबैंक ने आने वाले दिनों में महंगाई का आंकड़ा बढ़ने की चिेंता में यह कदम उठाया है.

रीयल एस्टेट कंपनियों के मालिकों के संगठन नारेडको के अध्यक्ष निरंजन हीरानंदानी ने कहा, ‘‘रीयल एस्टेट एरिया की नजर से यदि देखा जाये तो इस वृद्धि का मकान खरीदारों की धारणा पर निगेटिव प्रभाव होगा,  मकानों की बिक्री कम होगी.’’ उल्लेखनीय है कि रीयल एस्टेट एरिया मांग की कमी  आवासीय परियोजनाओं को तैयार करने में होने वाली देरी की वजह से कईसालों से मंदी के दौर से गुजर रहा है.

प्रापर्टी एरिया के सलाहकार नाइट फ्रैंक इंडिया के सीएमडी शिशिर बैजल ने बोला कि मुद्रास्फीति के रूझान को देखते हुये रेपो दर की वृद्धि उम्मीद के अनुरूप रही है.

Loading...
loading...