Tuesday , November 20 2018
Loading...

बड़ी खबर: खतरे में हैं हिंदुस्तान व ब्राजील के चुनाव

ऑक्सफोर्ड विश्विवद्यालय के सोशल मीडिया विशेषज्ञों ने अमेरिकी सांसदों के समक्ष दावा किया है कि हस्तक्षेप करने के लिए रूस वहां की मीडिया को निशाना बना सकता है ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के ऑक्सफोर्ड इंटरनेट इंस्टीट्यूट एंड बेलियोल कॉलेज में प्राध्यापक फिलिप एनहोवर्ड ने सोशल मीडिया मंचों पर विदेशी असर के मामलों पर सीनेट की खुफिया कमेटी की सुनवाई में यह बात कही हालांकि, होवर्ड ने अपने आरोपों के बारे में  अधिक ब्योरा नहीं दिया

Image result for evm machine hack

हालात  अधिक खतरनाक हो सकते हैं- होवर्ड
उन्होंने बोला कि उन राष्ट्रों में दशा  अधिक खतरनाक हो सकते हैं, जहां मीडिया अमेरिका जितना पेशेवर नहीं है सीनेटर सुसान कोलिंस के एक सवाल के जवाब में होवर्ड ने यह बात कही उन्होंने हिंदुस्तान  ब्राजील के चुनावों में मीडिया के जरिए हस्तक्षेप की आसार का जिक्र किया हालांकि, इस बारे में  अधिक ब्योरा नहीं दिया इससे पहले कोलिंस ने हंगरी की मीडिया में इस तरह के हस्तक्षेप के कुछ उदाहरण दिए

Loading...

दुनिया में सबसे ज्यादा पेशेवर मीडिया अमेरिका में हैं- होवर्ड 
होवर्ड ने बोला कि संसार में सबसे ज्यादा पेशेवर मीडिया अमेरिका में हैं उन्होंने कहा, ‘‘मैं कह सकता हूं कि हमारे लोकतांत्रिक सहयोगी राष्ट्रों में अधिक चिंताएं हो सकती हैं मेरा मानना है कि रूस हमे निशाना बनाने से आगे बढ़ते हुए ब्राजील, हिंदुस्तान जैसे अन्य लोकतंत्रों को निशाना बना सकता है, जहां अगले कुछ बरसों में चुनाव होने वाले हैं

loading...

हम जरूरी रूसी गतिविधि देख रहे हैं- फिलिप
होवर्ड ने बोला कि हम जरूरी रूसी गतिविधि देख रहे हैं, इसलिए उन राष्ट्रों के मीडिया संस्थानों को सीखने  विकसित होने की आवश्यकता है सीनेट कमेटी ने 2016 के रूसी चुनाव में कथित रूसी हस्तक्षेप पर ध्यान केंद्रित करते हुए सोशल मीडिया मंचों पर विदेशी असर पर सुनवाई की

गौरतलब है कि जनवरी 2017 के आंकलन में शीर्ष अमेरिकी खुफिया एजेंसियां इस निष्कर्ष पर पहुंची थी कि रूस ने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में हस्तक्षेप किया था

Loading...
loading...