Tuesday , November 13 2018
Loading...

म्यांमार की दशा हुए गंभीर, बाढ़ ने उजड़े घर

बाढ़ग्रस्त दक्षिणपूर्वी म्यांमार में फिर से बारिश होने के कारण तटबंधों के टूटने का खतरा है यहां बाढ़ के कारण करीब 150,000 लोगों को अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा  एक दर्जन लोगों की मौत हुई है पूरे चार प्रांतों में खेती के विशाल भूभाग पर पानी भर गया है  बचाव दल नाव से ग्रामीणों तक पहुंचने का कोशिश कर रहे हैं जो ग्रामीण अक्षम हैं या अपना घर छोड़ने से इंकार कर रहे हैं उन्हें खाना मुहैया कराया जा रहा है बागो एरिया में मदौक शहर में बाढ़ का पानी तटबंधों की ऊपरी सीमा से केवल कुछ इंच नीचे है लेकिन लोकल लोगों को भय है कि मानसून की ताजा बारिश से बाढ़ जैसी स्थिति बन सकती है

Image result for म्यांमार में बाढ़ से दशा हुए गंभीर, करीब 150,000 लोग हुए विस्थापित

बचाव टीम के नेता हलैंग मिन ओओ ने बताया, ‘‘अगर अगली बाढ़ तक यह तटबंध मजबूत नहीं बना रहता है तो, कई  गांवों पर भी अधिक खतरा होगा ’’ वह स्वयंसेवकों के काम का निरीक्षण कर रहे थे जो बाढ़ पीड़ितों के लिए नाव पर भोजन की सामग्री रख रहे थे सरकारी मीडिया की खबरों में बोलागया है कि 148,386 लोग फिल्हाल 327 शिविरों में शरण लिए हुए हैं बताते चलें कि दक्षिणपूर्व के कुछ निचले इलाकों में बाढ़ का पानी घट रहा है लेकिन, राष्ट्र में अभी मानसून का मौसम प्रारम्भ हुआ है तथा आने वाले हफ्तों में  बारिश हो सकती है समूचे बागो, केरन, मोन  तानिनथारी प्रांत में लोगों को सुरक्षित जगह पर जाने के आदेश दिए गए हैं इन इलाकों में दर्जनों बांध  जलाशय में पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है

Loading...

 

Loading...
loading...