Sunday , September 23 2018
Loading...
Breaking News

यह जानलेवा प्रथा बंद करने को केंद्र ने उठाई आवाज़

दुनिया भर के कई परम्पराएं मानी जाती हैं उन्ही में से एक प्रथा खतना भी है जो कई वर्षों से चली आ रही है  अब उसे ख़तम करने के लिए कदम उठाये जा रहे हैं खतना यानी फिमेल जेनिटल म्यूटिलेशन जिसमें मुस्लिम दाउदी बोहरा समुदाय की बच्चियों के साथ होती है इस पर राष्ट्र की गवर्नमेंट का कहना है इस प्रथा से बच्चियों को नुकसान होता है जिसकी भरपाई नहीं की जा सकती इसलिए यही बेहतर होगा कि इस प्रथा को समाप्त कर दिया जाए

Image result for high court

आप जानते ही होंगे कि पहले सटी  देवदासी प्रथा भी चलाई जाती थी लेकिन उन प्रथाओं को भी स्त्रियों को देखते हुए बंद किया गया है उसी तरह खतना भी बंद किया जाना है वहीं चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाले तीन सदस्यों के समक्ष गवर्नमेंट ने बोला कि इस प्रथा को संवैधानिक प्रावधानों के उल्टा बताया लेकिन इस प्रथा को बंद करना थोड़ा कठिन ही रहेगा

Loading...

दाऊदी बोहरा समुदाय की ओर से पेश वरिष्ठ एडवोकेट अभिषेक मनु सिंघवी ने इस प्रथा का बचाव किया है  उस पर बोला है खतना को गलत बताना  इसे अस्वास्थ्यकर समझना गलत है उसके आगे वो कहते हैं कि विशेषज्ञ चिकित्सक एफजीएम को यानी खतना को अंजाम देते हैं इस मामले पर अगली सुनवाई 9 अगस्त को की जाएगी

loading...
Loading...
loading...