Sunday , November 18 2018
Loading...
Breaking News

डिजिटल इंडिया से इसलिए भाग रहीं कंपनियां

बुनियादी ढांचे की कमी के कारण इंडियन कंपनियां डिजिटलीकरण को अपनाने में पीछे हैं विशेषज्ञों ने यह राय जाहीर की है यह स्थिति तब है जबकि ज्यादातर प्रौद्योगिकी नवोन्मेषण निवारण हिंदुस्तान में विकसित किए जा रहे हैं एसपी जैन स्कूल आफ ग्लोबल मैनेजमेंट में लॉजिस्टिक्स एवं आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन के प्रोफेसर  ग्लोबल एमबीए के प्रमुख डॉ राजीव असेरकर ने कहा, ‘‘लगभग सभी अंतर्राष्ट्रीय संगठनों ने हिंदुस्तान में प्रौद्योगिकी लैब स्थापित की हैं यह कुछ ऐसी स्थिति है कि प्रौद्योगिकी निवारण का विकास हिंदुस्तान में हो रहा है जबकि इनका प्रयोगसंसार में अन्य राष्ट्रों के लोग कर रहे हैं ’’

Image result for डिजिटल इंडिया

वैश्विक प्रबंधन सलाहकार कंपनी एक्सेंचर के प्रबंध निदेशक साइरिल वित्जास ने बोला कि हिंदुस्तान परिवर्तन लाने वाली प्रौद्योगिकियों के प्रबंधन को लेकर बेहतर स्थिति में है हिंदुस्तान के पास युवा प्रतिभाएं हैं जो नवोन्मेषण  स्टार्ट अप्स के जरिये नए विचारों को आगे बढ़ा रही हैंएक्सेंचर स्ट्रैटिजी का बेंगलुरु में विशिष्टता केंद्र है

Loading...

विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादातर नवोन्मेषण  निवारण हिंदुस्तान में बनी प्रयोगशालाओं से आ रहे हैं ऐसे में इंडियन कंपनियां डिजिटल प्रौद्योगिकी को तेजी से कम लागत में अपनाने को लेकर फायदा की स्थिति में हैं असेरकर कहते हैं कि अभी तक इंडियन कंपनियां ढांचे की कमी की वजह से डिजिटलीकरण को अपनाने में पीछे हैं

loading...
Loading...
loading...