Monday , September 24 2018
Loading...
Breaking News

अरे ये क्या, आखिर तेजस्वी को पटियाला हाउस न्यायालय ने क्यों भेजा समन?

राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख  बिहार के पूर्व CM लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं. आईआरसीटीसी होटल घोटाला मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस न्यायालय ने लालू प्रसाद यादव, उनके बेटे तेजस्वी यादव  पत्नी राबड़ी देवी को समन किया है. इससे पहले 27 जुलाई को न्यायालय में निर्णय 30 जुलाई के लिए सुरक्षित रख लिया था  जज ने बोला था  मुझे दस्तावेजों का अध्ययन करने दें. मैं सोमवार को आदेश पारित करूंगा. सीबीआई ने इस मामले में 16 अप्रैल को आरोप-पत्र दायर किया था.

Related image

लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी  बेटे तेजस्वी यादव पर 2006 में विनय और विजय कोचर से पटना में पॉश स्थान पर मौजूद 3 एकड़ जमीन लेकर आईआरसीटीसी के रांची  पुरी के दो होटलों को उनकी कंपनी सुजाता होटल को सौंप देने का आरोप है. इस मामले में CBI ने 16 अप्रैल को लालू, उनके बेटे तेजस्वी, पत्नी और बिहार की पूर्व CM राबड़ी देवी समेत 14 लोगों के विरूद्धचार्जशीट दाखिल की थी.

Loading...

CBI ने न्यायालय को बताया कि रेलवे बोर्ड के अलावा सदस्य  आईआरसीटीसी के पूर्व ग्रुप मैनेजर बी के अग्रवाल पर मुकदमा चलाने के लिए संबंधित अधिकारियों से मंजूरी प्राप्त की गई है. रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अग्रवाल पर कार्रवाई की अनुमति दी है. इस ऑफिसर पर मामले में लालू औरउनके परिवार को लाभ पहुंचाने के लिए जानबूझकर देरी कर मामले को निर्बल करने का आरोप है.

loading...

इस मामले में आरोप है कि निविदा प्रक्रिया को सख्त बनाया गया था  उससे छेड़छाड़ भी की गई थी.साथ ही व्यक्तिगत पार्टी (सुजाता होटल) की मदद के लिए निविदा प्रक्रिया की शर्तों को बदल दिया गया था.

CBI ने लालू प्रसाद यादव  उनके परिवार के सदस्यों के अलावा, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेम चंद गुप्ता उनकी पत्नी सरला गुप्ता, आईआरसीटीसी के तत्कालीन प्रबंध निदेशक पी के गोयल के आईआरसीटीसी के तत्कालीन निदेशक राकेश सक्सेना का नाम भी चार्जशीट में दाखिल किया है.

इसके अतिरिक्त चार्जशीट में आईआरसीटीसी के तत्कालीन ग्रुप महाप्रबंधक (जनरल मैनेजर) वीके अस्थाना  आरके गोयल, सुजाता होटल के दोनों निदेशकों विनय कोचर  विजय कोचर  पटना के चाणक्य होटल के मालिकों के भी नाम शामिल हैं.

Loading...
loading...