Friday , December 14 2018
Loading...

क्या हिंदुस्तान में सफलता से रूपए जैसा चल सकता है बिटकॉइन?

डॉलर  रुपये की खनक अपनी जेब में तो हम सब चाहते हैं लेकिन इन सिक्कों से भी बेशकीमती सिक्के की खनक आप सुन नहीं सकते. ये एक ऐसा सिक्का है जिसे छू तो नहीं सकते लेकिन जिसे मिल जाये वो मालामाल हो जाये. यह है बिटकॉइन.
Image result for बिटकॉइन?

राष्ट्र में भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों पर बिटकॉइन से जुड़े सभी लेन-देन पर प्रतिबंध लगा रखा है.लेकिन फिर भी लोगों में इसे लेकर उत्सुकता बनी हुई है. आम लोग भले ही बिटकॉइन नहीं खरीद पा रहे हों लेकिन पैसे वाले इंडियन अभी भी इस में जम कर निवेश कर रहे है. जिन लोगों को बेसब्री से इंतजार था कि हिंदुस्तान में बिटकॉइन की खरीद-फरोख्त फिर से जारी हो जाए उनके लिए उम्मीद जागी है क्योंकि कानून मंत्रालय ने बिटकॉइन को वैध करने का समर्थन किया है.

बिटकॉइन है क्या
बिटकॉइन एक डिजिटल मुद्रा या वरचुअल करंसी है. इसे आप एक डिजिटल वॉलेट में रखते हैं. ये एक ओपन सोर्स है जिसे कोई भी प्रयोग कर सकता है. ना दिखने वाले वॉलेट से आप खर्च कैसे करेंगे? तो ये बड़ा ही सरल है. आपके वर्चुअल मुद्रा को रुपये में बदल कर आपके बैंक अकाउंट में आप ट्रांस्फर कर सकते हैं. इससे लोगो को बहुत ज्यादा मुनाफा भी हुआ था जैसे शेयर्स को बेचकर आप मुनाफा कमाते हैं.
अब जानते हैं बिटकॉइन का कहां-कहां प्रयोग कर सकते हैं?
औनलाइन शॉपिंग,दुनिया में कहीं भी  कहीं से भी मनी ट्रांस्फर, किसी भी तरह की पेंमेंट ,किसी भी तरह के औनलाइन बिजनेस में ,खरीद-फरोख्त के जरिए मुनाफा कमा सकते हैं.

बिटकॉइन पर क्यों लगा प्रतिबंध

भारत में क्यों लगा प्रतिबंध

अहम सवाल यह है कि अगर बिटकॉइन के इतने कथित फायदे हैं तो हिंदुस्तान गवर्नमेंट ने इसे बैन क्यों किया? दरअसल बिटकॉइन जैसी वर्चुअल करेंसी का प्रयोग टेरर फंडिंग, स्मगलिंग, ड्रग्स और
मनी लॉन्ड्रिंग जैसे अवैध कार्यो में हो सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसका ट्रांजेक्शन पूरी तरह से इन्क्रिप्टीड होता है. पैसा कहां से आ रहा है, किस कम्पनी में जा रहा है इसकी कोई जानकारी नहीं होती. तो किसी फर्जीवाड़े के स्थिति में जांच एजेन्सी या गवर्नमेंट कोई कार्रवाई नहीं कर सकती क्रिमिनल पकड़ में नहीं आ सकते. तो इस लिहाज से भारतीय रिजर्व बैंक बिटकॉइन को चिट फंड से भी खतरनाक मानती है.

Loading...
अब तक कोई रेगुलेटर नहीं
बिटकॉइन या दूसरी क्रिप्टोकरेंसी को नियंत्रण करने के लिए अब तक कोई नियामक संस्था नहीं है. न इस पर गवर्नमेंट का नियंत्रण है  न ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया. इसके अतिरिक्त इस पर सेबी (भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड) का भी कोई कंट्रोल नहीं है.
क्रिप्टोकरेंसी में निवेश जोखिम भरा
क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना बहुत जोखिम भरा है क्योंकि इस वर्चुअल करेंसी में उतार-चढ़ाव काफीहै. इसपर किसी का नियंत्रण नहीं होने से इसमें काफी उठापटक देखने को मिलती है. एक बिटकॉइन की मूल्य डॉलर में गिनी जाती है. इसलिए इसका प्रभाव अमेरीकी मार्केट से लेकर इंडियन मार्केट में भी होता है. अमेरिकी निवेश बैंक जेपी मॉर्गन चेज के सीईओ जैमी डिमॉन ने बिटकॉइन के बारे में यहां तक बोला था कि ये संसार का सबसे बड़ा फ्रॉड है  इसमें निवेश करना बेवफूकी है.
बिटकॉइन को हिंदुस्तान में वैध करार देने वाले कानूनी सिफारिश का मसौदा कानून मंत्रालय ने तैयार कर लिया है और सर्वोच्च कोर्ट में विचाराधीन है. इस मामले पर अगली सुनवाई एक सितंबर को होगी  न्यायालय इस पर फैसला सुना सकती है.
Loading...
loading...