Friday , October 19 2018
Loading...
Breaking News

हेपेटाइटिस से घटती है पुरुषों की प्रजनन क्षमता

विश्व सेहत संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों में खुलासा हुआ है कि संसार भर में लगभग 36 करोड़ लोग हेपेटाइटिस बी या सी से पीड़ित हैं हेपेटाइटिस लीवर में सूजन का कारण बनता है,  यह सिरोसिस जैसे गंभीर विकार की वजह भी बन सकता है इसके अतिरिक्तहेपेटाइटिस से पुरुषों में बांझपन का भी खतरा पैदा हो सकता है डब्लूएचओ की रिपोर्ट से पता चला है कि हेपेटाइटिस बी वायरस वाले पुरुषों में बांझपन की संभावना 1.59 गुना अधिक रहती हैहेपेटाइटिस बी वायरस प्रोटीन शुक्राणु की गतिशीलता  शुक्राणुओं की निषेचन दर को कम करने के लिए जाना जाता है

Image result for हेपेटाइटिस से घटती है पुरुषों की प्रजनन क्षमता

दिल्ली में आईवीएफ एवं इन्फर्टिलिटी के डायरेक्टर एवं फेडरेशन ऑफ ऑब्स्टेट्रिक्स एंड गाइनीकोलॉजिकल सोसाइटीज ऑफ इंडिया के महासचिव डॉ ऋषिकेश डी पाई ने कहा, ‘हेपेटाइटिस का अंडाशय या गर्भाशय ग्रंथियों के सामान्य कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ताहालांकि इस वायरस से पुरुषों में शुक्राणुजनन पर निगेटिव असर पड़ता है इससे शुक्राणुओं की संख्या, टेस्टोस्टेरोन के स्तर, गतिशीलता  व्यवहार्यता में कमी आती है, जिससे उत्पादकता प्रजनन क्षमता पर प्रभाव पड़ता है’

Loading...

उन्होंने कहा, ‘विश्व हेपेटाइटिस दिवस के मौका पर आज की आवश्यकता है कि बांझ दम्पत्तियों में एचबीएसएजी  एचसीवी के परीक्षण की पेशकश की जाए इससे उन्हें प्रजनन क्षमता पर कुछ स्पष्टता प्राप्त करने में सहायता मिलेगी  वे अपने साथी या बच्चे को यह रोग स्थानांतरित करने से बच सकेंगे’

loading...

डॉ ऋषिकेश ने कहा, ‘हेपेटाइटिस के लिए पॉजिटिव घोषित हो चुके  बांझपन का इलाज चाहने वाले जोड़ों को सलाह देने की आवश्यकता है इससे उन्हें बीमारी के संचरण के जोखिम को समझने में मदद मिलेगी किसी भी सहायक प्रजनन तकनीकों के सुझाव दिए जाने चाहिए जिससे एक बार में ही उचित इलाज किया जाए तो उनकी समस्या कम हो’

Loading...
loading...