Monday , September 24 2018
Loading...
Breaking News

सावन के साथ-साथ आज विश्व भर में मनाया जा रहा हेपेटाइटिस दिवस

टीबी के साथ राष्ट्र में हेपेटाइटिस पर भी गवर्नमेंट ने मास्टर प्लान तैयार कर लिया है. इस बीमारी से लोगों को बचाने के लिए युद्घ स्तर पर कार्य प्रारम्भ हो चुका है. केंद्रीय सेहत मंत्री जगत प्रकाश नड्डा हेपेटाइटिस के लाखों मरीजों को संजीवनी देने के लिए शनिवार को नयी गाइडलाइन भी लेकर आ रहे हैं. इसके साथ ही राष्ट्र भर में राष्ट्रीय वायरल हेपेटाइटिस नियंत्रण प्रोग्राम का आगाज होगा. 28 जुलाई को विश्व हेपेटाइटिस दिवस की पूर्व संध्या पर राजधानी के विशेषज्ञों ने इस बीमारी की भयावहता को साझा किया.
Related image

मैक्स अस्पताल के डॉ रजनीश मल्होत्रा के अनुसार, अनुमानित तौर पर दिल्ली में हर दिन 100 से ज्यादा मरीज लिवर की समस्या को लेकर भर्ती हो रहे हैं. जबकि कालरा अस्पताल के निदेशक डॉआरएन कालरा का कहना है कि हेपेटाइटिस संक्रमण को समय रहते रोका जा सकता है. इसके लिए जागरूकता  इलाज दोनों ही समय पर महत्वपूर्ण है. लिवर में वायरल संक्रमण की वजह से आने वाली सूजन ही हेपेटाइटिस का रूप होती है. चूंकि इसके लक्षण अन्य बीमारियों से बहुत ज्यादामिलते जुलते हैं.

इसलिए समय रहते मरीज मेडिकल जांच नहीं करा पाते. उधर, 10 लाख मरीजों पर किए सर्वे में एसआरएल
डायग्नोस्टिक ने दावा किया है कि हिंदुस्तान में दूषित पानी की वजह से हेपेटाइटिस ई ज्यादा फैल रहा है. सर्वे के अनुसार 10 लाख में से 24 प्रतिशत लोग हेपेटाइटिस ई के शिकार हैं.

Loading...

क्या कहती है नयी गाइडलाइन
केंद्रीय सेहत मंत्रालय द्वारा तैयार हेपेटाइटिस की नयी गाइडलाइन के अनुसार, संसार भर में इस बीमारी से हर वर्ष करीब 13 लाख लोग संक्रमित हो रहे हैं. हिंदुस्तान में हर साल इसकी वजह से करीब डेढ़ लाख लोगों की मौत हो रही है.

loading...

मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने बताया कि नयी गाइडलाइन के तहत साल 2021 तक 42 लाख मरीजों को घर बैठे इलाज देने के लिए योजना तैयार की है. इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर एक नेटवर्क भी बनाया है. साथ ही अस्पतालों को विशेष आदेश भी दिए जा रहे हैं.

Loading...
loading...