Thursday , November 15 2018
Loading...
Breaking News

मरने से पहले क्या सोच रहे थे भाटिया परिवार के यह 11 सदस्य, जाने क्या है इसका राज़

देश को हिला देने वाले दिल्ली के बुराड़ी कांड में सीबीआई भाटिया परिवार के 11 लोगों की मौत के मामले में साइक्लॉजिकल ऑटोप्सी (मनोवैज्ञानिक पोस्टमार्टम) कर रही है। इससे ये पता लगेगा कि खुदकुशी करने से पहले परिवार के लोगों की मनोदशा कैसी थी।
Image result for मरने से पहले क्या सोच रहे थे भाटिया परिवार के यह 11 सदस्य, जाने क्या है इसका राज़

परिवार के अन्य सदस्य क्या खुदकुशी करना चाहते थे या फिर धोखे से फांसी पर लटकाया गया है। वहीं, पुलिस ने घर की सुरक्षा अभी तक बढ़ा रखी है।

अमर उजाला ने सबसे पहले इस खबर को प्रकाशित किया था कि बुराड़ी में 11 लोगों की मौत के मामले को सुलझाने के लिए दिल्ली पुलिस सीबीआई की सहायता लेगी।

Loading...

अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अपराध शाखा ने सीबीआई को साइक्लॉजिकल ऑटोप्सी के लिए पत्र लिखा था। सीबीआई ने अपराध शाखा के आग्रह को स्वीकार कर लिया।

loading...

पीड़ित परिवार से संपर्क साध रहे विदेशी

सीबीआई की सीएफएसएल टीम सभी 11 मृतकों की साइक्लॉजिकल ऑटोप्सी कर रही है। सीबीआई की सीएफएसएल ने अपराध शाखा से सारे कागजात, परिवार, पड़ोसियों व रिश्तेदारों के बयान ले लिए थे। पुलिस ने कहा कि वह मामले की तफ्तीश कर रह हैं।

पीड़ित परिवार से संपर्क साध रहे विदेशी
विदेशी लोग पीड़ित परिवार के लोगों से संपर्क साध रहे हैं। दिनेश के पास विदेश से काफी फोन आ रहे हैं और वह पुलिस से कई सवाल पूछने के लिए कह रहे हैं।

विदेशी लोगों के संपर्क में आने के बाद दिनेश व ललित की बहन सुजाता पिछले सप्ताह रोहिणी स्थित दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के कार्यालय गए थे, जहां दोनों ने पुलिस से कई सवाल पूछे थे।

Loading...
loading...