X
    Categories: क्राइम

देशद्रोह के आरोप में व्हाट्सएप्प ग्रुप एडमिन पंहुचा जेल

व्हाट्सएप्प पर फेक समाचार  भड़काऊ पोस्ट करने वालों के विरूद्ध अब प्रशासन ने कठोरकार्यवाही करना प्रारम्भ कर दिया है, अगर आप भी किसी व्हाट्सएप्प ग्रुप के एडमिन हैं या फिर किसी ऐसे ग्रुप के सदस्य हैं, जिसमे आपत्तिजनक मेसेजेस आते हैं तो तुरंत उस ग्रुप से बहार निकल जाइए, अन्यथा आपको भी कारागार जाने की नौबत आ सकती है ऐसा ही एक मामला सामने आया है, मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले से राजगढ़ के तालेन कस्बे में रहने वाले जुनैद खान को पुलिस ने 14 फरवरी को आईटी एक्ट  आईपीसी के सेक्शन 124 ए के तहत अरैस्ट किया था

राजगढ़ का जुनैद मात्र इस वजह से कारागार में है, क्योंकि गलती से वह उस ग्रुप का एडमिन बन गया था, जिसमे एक दूसरे आदमी इरफ़ान ने आपत्तिजनक पोस्ट फॉरवर्ड किए थे कुछ लोगों ने इसे देखा  इसकी शिकायत पुलिस को कर दी पुलिस ने ग्रुप एडमिन  इरफ़ान के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कर ली पुलिस ने जब जांच प्रारम्भ की तब जुनैद ग्रुप का एडमिन था, इसलिए जुनैद को अरैस्ट कर लिया गया

Loading...

हालाँकि इस मामले पर जुनैद के परिवार का कहना है कि जुनैद बेगुनाह है, जब ये पोस्ट फॉरवर्ड हुआ तो जुनैद रतलाम गया हुआ था, लेकिन इस पोस्ट के बाद ग्रुप के एडमिन ने लेफ्ट कर दिया, जिससे व्हाट्सएप्प ने जुनैद को डिफ़ॉल्ट एडमिन बना दिया परिजनों ने बताया कि इस आरोप के कारण जुनैद इम्तिहान भी नहीं दे पाया है फिल्हाल जुनैद  इरफ़ान दोनों पुलिस की हिरासत में है, पुलिस ने दोनों के विरूद्ध देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर रखा है इस मामले में पुलिस का कहना है कि जुनैद के घर वालों ने पहले यह नहीं बताया था कि जुनैद डिफ़ॉल्ट एडमिन था, अब उन्हें इसे साबित करने के लिए न्यायालय में सबूत पेश करने होंगे

loading...
Loading...
News Room :

Comments are closed.