Thursday , November 15 2018
Loading...

नए पीएम को चुनने के लिए आवाम की जनता पूरी तरह तैयार

नए पीएम को चुनने के लिए आवाम की जनता पूरी तरह तैयार है। हालांकि चुनाव प्रक्रिया में शक्तिशाली सेना की किरदार पर सवाल उठाए जा रहे हैं व बड़ी संख्या में इस्लामी कट्टरपंथियों के चुनाव में भाग लेने को लेकर भी चिंता जाहिर की जा रही है। देशभर के 85,000 मतदान केंद्रों पर प्रातः काल आठ बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा। मतदान समाप्त होने के तुरंत बाद इन्हीं केंद्रों पर मतों की गिनती की जाएगी व 24 घंटों के भीतर परिणाम की घोषणा कर दी जाएगी।

Image result for नए पीएम को चुनने के लिए आवाम की जनता पूरी तरह तैयार

चुनाव से पूर्व मीडिया पर लगाम कसने की कई कोशिशें देखने को मिली हैं। इसके अतिरिक्त सेना द्वारा गुपचुप तरीके से पूर्व क्रिकेटर इमरान खान के अभियान के समर्थन व उनके राजनीतिक विरोधियों के निशाना बनाने के भी आरोप लगे हैं। पाक ने अपने 70 वर्ष के इतिहास में कई बार तख्ता पलट देखा है व लगभग आधे समय तक सत्ता की बागडोर प्रत्यक्ष रूप से सेना के पास रही है। इसके अतिरिक्त असैनिक शासकों के काल में भी सेना शक्तिशाली रही है व राष्ट्र की विदेश व सुरक्षा नीति तय करने में उसकी किरदार अहम रही है।

Loading...

सेना को मजिस्ट्रेट स्तर की शक्ति देने के बाद से ही उसकी किरदार पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। मतदान केंद्रों के भीतर व बाहर सेना की तैनाती के लिए भी पाक के चुनाव आयोग की आलोचना होती रही है। सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा ने हालांकि आश्वस्त किया है कि चुनाव ड्यूटी में लगाए गए सैनिक आयोग की आचार संहिता का कड़ाई से पालन करेंगे। उन्होंने बोला कि सेना चुनाव के दौरान केवल सहयोगी की किरदार निभाएगी व चुनाव प्रक्रिया का पूरा नियंत्रण चुनाव आयोग के पास रहेगा। करप्शन के एक मामले में दोषी ठहराए गए पीएमएल – एन प्रमुख नवाज शरीफ भी यह आरोप लगा चुके हैं कि सेना ने उन्हें दोषी ठहराने के लिए न्यायपालिका पर दबाव बनाया। हालांकि दोनों संस्थाओं ने इन आरोपों को खारिज किया है।

loading...
Loading...
loading...