Friday , September 21 2018
Loading...

आखिर उनके मन में क्या चल रहा जो हिंदुस्तान के साथ मजबूत संबंध बनाना चाहते हैं इमरान खान

पड़ोसी राष्ट्र पाक में कल (25 जुलाई को) आम चुनाव होने जा रहे हैं ऐसे में पिछले दो महीने से चल रहा चुनाव प्रचार अब खत्म हो गया है यह चुनाव कई मायनों में अलग हैएक ओर इस चुनाव में हिंदुस्तान  कश्मीर के मुद्दे छाए रहे, वहीं दूसरी ओर राजनीतिक पार्टियां इंडियन पीएम नरेंद्र मोदी के नाम पर भी वोट मांगती नजर आईं इस बीच जी मीडिया के सहयोगी चैनल WION को दिए एक्सक्लूसिव साक्षात्कार में तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के प्रमुख इमरान खान हिंदुस्तान  पाक के बीच बिगड़े संबंध का ठीकरा मोदी गवर्नमेंट के सिर फोड़ते नजर आए हालांकि उन्होंने बोला कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीतती है तो हिंदुस्तान के साथ अच्छे संबंध कायम करने की पहल करेगी पेश हैं साक्षात्कार के खास अंश

Image result for चाहते हैं इमरान खान

बातचीत के दौरान क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान ने बोला कि पाक की अर्थव्यवस्था खोखली हो चुकी है राष्ट्र कर्ज तले दबा हुआ है उन्होंने बेकार अर्थव्यवस्था, करप्शन  बेरोजगारी के लिए पिछली सरकारों को जिम्मेदार ठहराया इमरान खान ने बोला कि अगर उनकी पार्टी चुनाव जीतती है तो सबसे पहले वह राष्ट्र में बुनियादी सुविधाओं को दुरुस्त करेगी

Loading...

मोदी गवर्नमेंट पर साधा निशाना
बात-चीत के दौरान पीटीआई प्रमुख ने हिंदुस्तान  पाक के बीच तनाव के लिए मोदी गवर्नमेंट को जिम्मेदार ठहराया साक्षात्कार के दौरान इमरान खान भी पाकिस्तानी आर्मी की भाषा बोलते नजर आए उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी का नाम लेते हुए बोला कि इस गवर्नमेंट के कार्यकाल के दौरान संबंधबदतर हुए हैं मोदी गवर्नमेंट की पाकिस्‍तान विरोधी आक्रामक नीतियों की वजह से दोनों सरकारों के बीच रिश्‍ते सहज नहीं रहे उन्होंने बोला कि पाक सभी के साथ अच्छे संबंध कायम रखना चाहता हैहिंदुस्तान के साथ संबंध सुधरने से पाक को कारोबार के लिए बड़ा मार्केट मिलेगा जिससे दोनों मुल्कों को लाभ होगा

loading...

यहां सुनें इमरान खान ने हिंदुस्तान  कश्मीर के मुद्दों पर क्या कहा- 

चुनाव में कश्मीर का मुद्दा अहम
कश्मीर के मुद्दे पर बात करते हुए पीटीआई प्रमुख ने बोला कि कश्मीर का मुद्दा दोनों राष्ट्रों के बीच बढ़ते तनाव का कारण है उन्होंने बोला कि ऐसा नहीं है कि पाक गवर्नमेंट ने संबंध बेहतर करने के लिए पहल नहीं की लेकिन जब तक कश्मीर का मुद्दा नहीं सुलझता आपसी रिश्तों में कड़वाहट बरकरार रहेगी

आरोपों को किया खारिज
वहीं दूसरी तरफ, पिछले दिनों कई राजनीतिक पार्टियों ने ISI  आर्मी पर चुनाव में तहरीक-ए-इंसाफ का साथ देने के आरोप लगाए इस पर इमरान खान ने बोला कि इस चुनाव में भी ISI का उतना ही दखल है जितना कि पहले होता आया है हालांकि उन्होंने यह मानने से मना किया कि उनकी पार्टी को आर्मी  ISI का साथ मिला हुआ है उन्होंने बोला कि नवाज शरीफ यह आरोप लगा रहे हैं क्योंकि न्यायालय  आर्मी ने उनकी पार्टी का साथ नहीं दिया

इमरान खान को जबरदस्त समर्थन
65 वर्षीय नेता इमरान खान को आर्मी का समर्थन है या नहीं यह कहना तो कठिन है लेकिन उन्हें पाक की अवाम सहित सितारों  पूर्व क्रिकेटरों का खूब समर्थन मिला है ऐसे में पाक की सत्ता पर कौन राज करेगा  जनता किस पार्टी को बाहर का रास्ता दिखाएगी यह तो नतीजे आने के बाद ही साफ हो पाएगा ऐसे में चुनाव  आने वाले नतीजों पर पूरी संसार की नजर बनी हुई है

Loading...
loading...