Friday , November 16 2018
Loading...
Breaking News

21 वर्ष का भाई ने अपनी 11 वर्षीय बहन के साथ किया ऐसा घिनौना काम कि

कम आयु की बच्चियों के साथ यौन शोषण होना आज के दिन में एक आम बात हो गई है. एक ऐसा ही किस्सा जलंधर के गांव फतेहउल्लापुर में हुआ है लेकिन इस हादसे ने सबको चौंका दिया है. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि तीसरी क्लास में पढ़ने वाली 11 वर्ष की बच्ची से उसका 21 वर्ष का भाई डेढ़ वर्ष से बलात्कार कर रहा था. इसका खुलासा तब हुआ जब स्कूल में इस बारे में चर्चा हुई.दरअसल स्कूल में जब टीचर ने छात्राओं को गुड टच  बैड टच के बारे में बताया तो 11 वर्ष की बच्ची को पता चला कि उसके साथ बलात्कार हो रहा है.
Image result for 21 वर्ष का भाई ने अपनी 11 वर्षीय बाहें के साथ किया ऐसा घिनौना काम कि
स्कूल स्टाफ ने इस बच्ची के मां बाप को सारी जानकारी दी  फिर पुलिस में शिकायत दर्ज की गई.पुलिस ने आरोपी को अरैस्ट भी कर लिया है. इस मामले के सामने आने के बाद एक बार फिर गुड टच  बैड टच को लेकर सोशल मीडिया पर बातें प्रारम्भ हो गई हैं. अधिकांश बच्चों को इस बारे में कोई जानकारी नहीं होती. पेरेंट्स भी इन विषयों पर बात करने से बहुत कतराते हैं. इन्हीं सब के चलते बच्चियां इनका शिकार हो जाती हैं.
आखिर ये गुड टच  बैड टच है क्याआइए आपको बताते हैं. गुड टच  बैड टच से जुड़ी ऐसी 10 बातें हैं जो हर पेरेंट्स को अपने बच्चों के साथ शेयर करनी चाहिए. बच्चों को चाइल्ड लाइन का नंबर 1098 भी याद करवा देना चाहिए ताकि कुछ भी गलत हो तो वो खुद भी कॉल कर सकें.   क्या होता है गुड टच बैड टच- गुड टच क्या है ? अगर कोई आपको टच करता है  आपको अच्छा लगता है या प्यार की अनुभूति होती है तो यह गुड टच कहलाता है. इसको आप अपनी मां, पिता, बड़ी बहन, दादी के टच से फील कर सकते हैं. कोई अपना जब आपको प्यार से चट करता है तो वो अच्छा लगता है.
बैड टच क्या है ? जब कोई आदमी आपको इस तरह से छूता है कि आप इससे अंकर्फेटेबल महसूस करते हैं या फिर उस आदमी का छूना आपको बुरा लगता है. यह बैड टच कहलाता है. इसके साथ ही अगर कोई अनजान आदमी आपके प्राइवेट पार्टस को छूने की प्रयास करता है तो यह भी बैड टच है.वहीं अगर कोई आदमी आपको इस तरह से छूता है जिस पर आप असहज हो जाते हैं  वह आदमीआपको इसके बारे में किसी से न बताने के लिए कहता है तो यह बैड टच है.
सबसे पहले पैरेंट्स को बच्चों का भरोसा जीतना चाहिए. छोटी आयु के बच्चों में ये विश्वास दिलाना चाहिए कि आप उनके साथ हैं  बच्चों की गोपनीय बात को किसी को नहींबताएंगे. इसके बाद ही बच्चा आपको अपनी गोपनीय बात या घटना के बारे में बताएगा. बच्चों को उनके बॉडी के बारे में जानकारी दें. उनको व्यक्तिगत अंगों के बारे में खुलकरबताएं. साथ ही यह भी बताएं अपने व्यक्तिगत अंगों को वो किसी को न छूने दें. इसके बाद बच्चे को पता चलेगा कि अगर किसी दूसरे ने ऐसा किया तो बच्चे को बुरा लगेगा.
बच्चों को उनके बॉडी के व्यक्तिगत अंगों के बारे में पूरी जानकरी दें. ध्यान रहे कि बच्चों को प्राइवेट पार्ट्स के बारे में बताते समय बहुत अच्छी भाषा का इस्तेमाल करें. बच्चों को लड़के  लड़की के बॉडीमें अंतर के बारे में बताएं. पैरेंट्स को चाहिए कि वो बच्चों को सिखाएं कि अगर स्कूल में या बस में ऐसा होता है तो प्रधानाचार्य  घर पर पैरेंट्स को बताएं. पैरेंट्स बच्चों को विरोध करना सिखाएं. अगर कोई आदमी चाहे वह रिश्तेदार हो या फिर स्कूल टीचर या पड़ोसी अगर ऐसा करता है तो बच्चों को इसका जमकर विरोध करना चाहिए. चिल्लाने पर सामने वाला भय जाएगा  कुछ लोग आ जाएंगे कि कुछ गड़बड़ हो रहा है.
Loading...
loading...