Thursday , February 21 2019
Loading...

इस मामले में अन्नाद्रमुक ने राजग से क्यों करी साठगांठ, आखिर क्या है उनकी असल योजना

चेन्नई के बाद अब विपक्षी खेमे में आरोप-प्रत्‍यारोप का आरोप प्रारम्भ हो गया है इसी के तहत द्रमुक ने अन्नाद्रमुक पर हमला कहा है द्रमुक ने अन्‍नाद्रमुक पर आरोप लगाया कि कई मतभेद होने के बावजूद नरेंद्र मोदी गवर्नमेंट के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन ना करना तमिलनाडु की सत्तारूढ़ पार्टी  राजग के बीच साठगांठ का प्रमाण है

Image result for इस मामले में अन्नाद्रमुक ने राजग

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने अन्नाद्रमुक से संसद में विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने की अपील की थी द्रमुक का लोकसभा में कोई सांसद नहीं है वहीं अन्नाद्रमुक के सदन में 37 सांसद हैं संसद में वह सत्तारूढ़ बीजेपी  विपक्षी पार्टी कांग्रेस पार्टी के बाद तीसरी सबसे बड़ी पार्टी है

स्टालिन ने लोकसभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर हुई बहस  मतदान के बाद शुक्रवार रात को ट्वीट करते हुए बोला कि ‘नीट, 15वें वित्त आयोग, जीएसटी, हिंदी थोपने  सांप्रदायिक पॉलिटिक्स के बावजूद अविश्वास प्रस्ताव में मोदी गवर्नमेंट का समर्थन अन्नाद्रमुक  बीजेपी के बीच साठगांठ का प्रमाण है’

बता दें कि विपक्षी पार्टी टीडीपी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्‍य का दर्जा न मिलने के मामले में मोदी गवर्नमेंट के विरूद्ध अविश्‍वास प्रस्‍ताव पेश करने की घोषणा की थी इसके बाद उसे अन्‍य विपक्षी पार्टियों का समर्थन प्राप्‍त हुआ था इसी को लेकर शुक्रवार को लोकसभा में मोदी गवर्नमेंट के विरूद्धअविश्‍वास प्रस्‍ताव पर बहस आयोजित की गई थी इसमें विपक्षी दलों के नेताओं ने मोदी गवर्नमेंटपर हमला कहा था इसके बाद मोदी गवर्नमेंट के विरूद्ध विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव 126 के मुकाबले 325 मतों से गिर गया था

loading...