X
    Categories: राष्ट्रीय

गो-तस्करी के संदेह में मारा गया अकबर

देश की संसद में शुक्रवार को विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव का जवाब देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मॉब लिंचिंग पर चिंता जाहिर की थी. इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने राज्यों से इस दिशा में सख्त कदम उठाने को बोला था.

लेकिन हमेशा की तरह इस बार भी गवर्नमेंट की बात का गोरक्षकों पर कोई प्रभाव नहीं हुआ. इस सम्बोधन के कुछ घंटे बाद ही अलवर में एक बार फिर एक मॉब लिंचिंग की घटना हुई.

राजस्थान के अलवर के रामगढ़ थाना एरिया में अकबर खान नाम के एक शख्स को गोतस्करी के संदेह में पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया. यह घटना शुक्रवार रात की है.

Loading...

अलवर जिले का यह वही एरिया है जहां एक वर्ष पहले अप्रैल 2017 में पहलू खान नाम के बुजुर्ग शख्स को गोतस्करी के ही संदेह में भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला. 55 वर्ष का पहलू भी मेवात जिले का रहने वाला था  वह रमजान में दूध के लिए गौ माता खरीदकर घर जा रहा था.

loading...

मेव जाति करती है गायों का संरक्षण

पहलू खान मेव जाति का था. यह जाति गौ माता का पालन-पोषण  संरक्षण करने के लिए जानी जाती है. पहलू खान की मर्डर के आरोपियों को सजा भी नहीं हुई  एक बार फिर ऐसी ही घटना अच्छाउसी इलाके से सामने आ गई जहां एक वर्ष पहले उसे मारा गया था.

बता दें कि रामगढ़ के थाना एरिया लालवंडी गांव में कुछ लोगों ने अकबर खान को पीट-पीटकर मार डाला. जानकारी के अनुसार अकबर खान के पाय दो गौ माता थी. उसे दो गायों के साथ देख कुछ लोगों ने उसे गो-तस्कर समझा  इतनी बेरहमी से पीटा कि उसकी मौत.

अब तक मिली जानकारी के अनुसार अकबर के मृत शरीर को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है गायों को गोशाला भेज दिया है. इसके साथ ही इस मामले में 4 लोगों के विरूद्ध मामला भी दर्ज कर लिया है. मेडिकल बोर्ड से मृत शरीर का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा. मृतक अकबर खान हरियाणा के कोलगांव का निवासी है.

Loading...
News Room :

Comments are closed.