Sunday , February 17 2019
Loading...

मोदी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रही विपक्ष को आम आदमी पार्टी का भी समर्थन

वर्तमान में चल रहे संसद के मानसून सत्र में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रही विपक्ष को आम आदमी पार्टी का भी समर्थन मिल गया है।

Image result for आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी ने बृहस्पतिवार को अपने सांसदों को व्हिप जारी कर अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन करने को कहा है। वहीं कभी भाजपा का साथ देने वाली तो कभी भाजपा के खिलाफ खड़ी होने वाली उसकी सहयोगी शिवसेना ने अपने सांसदों को व्हिप जारी कर सरकार के पक्ष में वोट करने को कहा है।

कैसा रहा है मानसून सत्र का आगाज
संसद के मानसून सत्र की शुरुआत जोरदार हंगामे और शोर-शराबे के साथ हुई है। कल शुक्रवार यानी 20 जुलाई को चार साल पुरानी मोदी सरकार को पहली बार अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना पड़ेगा। पहले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा होगी और उसके बाद शाम 6 बजे वोटिंग होगी। एनडीए की सहयोगी रही तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) ने इसका नोटिस लोकसभा महासचिव को दिया था, जिसका कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों ने भी समर्थन किया। आप भी जानिए अविश्वास प्रस्ताव को लेकर अब तक क्या कुछ हो रहा है।

अविश्वास प्रस्ताव पर बीजेपी का जीतना लगभग तय  
अंकों के गणित में वैसे तो लोकसभा में एनडीए पूरी तरह से सेफ जोन में है। मौजूदा समय में लोकसभा में कुल 536 सदस्य हैं। इसमें दो नामित सदस्य भी शामिल हैं जबकि 9 सीट खाली हैं। यानी स्पीकर को हटा दें तो कुल संख्या 535 हो जाती है। लिहाजा, बहुमत के लिए 268 सदस्य चाहिए। लोकसभा में दलगत स्थिति की बात की जाए तो बीजेपी के पास कुल 273 (स्पीकर को छोड़कर) सदस्य हैं।

एनडीए के कुल आंकड़ों को देखें तो यह 358 तक पहुंच जाता है। यानी सरकार के पास पर्याप्त संख्या बल है। लिहाजा, अविश्वास प्रस्ताव से तो बीजेपी पहले ही निश्चिंत है। सूत्रों के मुताबिक मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष की ओर से लाये गए अविश्वास प्रस्ताव पर शुक्रवार को होने वाले मत विभाजन में सरकार को 314 सांसदों का समर्थन मिलेगा।

loading...