Monday , August 20 2018
Loading...

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चली गई धोनी की कप्तानी

भारतीय टीम के सबसे सफल कप्तानों में शामिल महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर से चर्चा में हैं लेकिन इस बार सुर्खियां उनकी बेकार फॉर्म को लेकर हैं दो महीने पहले आईपीएल में अपने बल्ले से चमक बिखरने वाले महेंद्र सिंह धोनी इंग्लैंड की धरती पर ऐसे ‘बूढ़े खिलाड़ी’ के रूप में दिखे, जो निर्बल हो चुका है उनकी धीमी बल्लेबाजी लोगों के निशाने पर रही यहां उनका बल्ला इस कदर चुपचाप रहा, कि लोगों ने उनके संन्यास की बात भी कह दी एक मैच के दौरान तो लोगों ने हूटिंग भी कर डाली कहना होगा कि इंग्लैंड का दौरा धोनी के लिए मुसीबतें लेकर ही आता है कम से कम आंकड़े उनके बारे में यही कहते हैं

Loading...

Image result for ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चली गई धोनी की कप्तानी

महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ने राष्ट्र  विदेश दोनों स्थान जमकर कामयाबी हासिल की लेकिन इंग्लैंड की धरती हमेशा उनके लिए मुश्किल इम्तिहान साबित हुई है उनके नेतृत्व में दो बार भारतीय टीम ने वहां का दौरा किया 9 टेस्ट टीम ने खेले इसमें 7 टेस्ट गंवाए 1 में जीत हासिल हुई  एक ड्रॉ हुआ खुद धोनी 82 रन से ज्यादा की बड़ी पारी नहीं खेल पाए

loading...

2011 के दौरे में टीम 4-0 से हारी
धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर गई 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में टीम को एक भी जीत हासिल नहीं हुई खुद महेंद्र सिंह धोनी 8 पारियों में सिर्फ दो फिफ्टी बना सके

2014 का दौरा सबसे विवादित रहा
2014 में भारतीय टीम कप्तान धोनी थे, तो कोच डंकन फ्लेचर अगस्त 2014 में इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम ने शर्मनाक प्रदर्शन किया था उस समय बीसीसीआई ने शास्त्री को टीम का डायरेक्टर बनाया था नियुक्ति के बाद शास्‍त्री ने बोला था कि अब वे ही सारे मामले देखेंगे कोच भी उन्‍हें ही रिपोर्ट करेंगे, लेकिन धोनी ने साफ कर दिया था कि टीम के वास्तविक बॉस तो फ्लेचर ही होंगे धोनी के इस बयान से नाराज BCCI के एक सीनियर ऑफिसर ने बोला था, ‘धोनी कोच का चुनाव नहीं कर सकते इसका फैसला BCCI को लेना होता है इसी तरह से सेलेक्‍शन कमेटी वर्ल्‍डकप के लिये कोच  कैप्‍टन का चुनाव करेगी ‘

इसके बाद भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई वहां पर भी भारतीय टीम के शर्मनाक प्रदर्शन से इतने दशा बेकार हुए कि धोनी की कप्तानी चली गई लेकिन अगर ध्यान से देखें तो इसकी नींव इंग्लैंड दौरे पर ही रख दी गई थी धोनी डंकन फ्लेचर  रवि शास्त्री का टकराव भी इसकी जड़ में था

इस दौरे पर भी उठे सवाल
धोनी के लिए ये दौरा भी अच्छा नहीं रहा दो मैचों में उन्होंने 79 रन ही बनाए इस दौरान उनका औसत 39 का  स्ट्राइक रेट 63 की रही वह मैच में उस गम्भीर मोड़ पर आउट हुए, जब उनकी सबसे ज्यादा आवश्यकता थी ऐसे में टीम में उनके रहने पर सवाल उठने ही थे

अगला वर्ल्डकप भी इंग्लैंड में
2019 में होना वाला क्रिकेट वर्ल्डकप इंग्लैंड की ही धरती पर है भारतीय टीम के कोच शास्त्री कप्तान कोहली कह चुके हैं कि वर्ल्डकप तक धोनी टीम में रहेंगे लेकिन जिस तरह उनकी फॉर्म उनका साथ छोड़ रही है ऐसे में ये भी देखना होगा कि वह कब तक उनका बचाव करते हैं वैसे भी अगर वह टीम में रहे तो हो सकता है कि वर्ल्डकप का कोई मैच ही उनका आखिरी मैच हो

Loading...
loading...