Thursday , November 15 2018
Loading...
Breaking News

आनंदीबेन पटेल ने स्त्रियों को लेकर कहा “इनके विकास से ही राष्ट्र का हो सकता है विकास”

मध्य प्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल ने बोला कि स्वसहायता समूह से जुड़कर स्त्रियों की सोच, हालात  कार्यो में बदलाव  जागृति आई है वह सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ना चाहती हैं अब स्त्रियों को आगे बढ़ने में पूरा सहायोग देना महत्वपूर्ण है स्त्रियों के विकास  समृद्धि से ही राष्ट्र का विकास संभव है राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के 37वें स्थापना दिवस पर यहां गुरुवार को आयोजित वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए गवर्नर ने बोला कि महिला शक्ति का भंडार है इस शक्ति का राष्ट्र के हित में उपयोग होना चाहिए

उन्होंने बोला कि महिलाएं पहले परिवार के बारे में सोचती हैं  सबके बाद अपना सोचती हैं अब समय आ गया है कि महिलाएं परिवार का भला सोचने के साथ-साथ अपने विकास  समृद्धि का भी ध्यान रखें महिलाएं अपने सम्मान  स्वाभिमान के लिए परिश्रम करें, प्रशिक्षण प्राप्त करें तथा केंद्र  राज्य गवर्नमेंट द्वारा व्यवसाय के लिए उपलब्ध कराए जा रहे बैंक ऋण का भरपूर फायदा उठाएं

Loading...

राज्यपाल ने बोला कि मां-बाप की जागरूकता का ही परिणाम है कि आज बेटियां एजुकेशन में प्रथम जगह प्राप्त कर उच्च पद पर रहकर राष्ट्र की सेवा कर रही हैं

loading...

सांसद आलोक संजर ने अपना फर्ज निभाते हुए बोला कि गांधी ने गांवों की तरक्की का जो सपना देखा था, वह आज के नेतृत्व में पूरा हो रहा है आज समाज में महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर हर एरिया में कार्यरत हैं उन्होंने बोला कि नारी सम्मान, ममता  लज्जा की मूर्ति होती हैनारी सम्मान के लिए गवर्नमेंट को कठोर अनुशासनात्मक कार्यवाही करनी चाहिए इस मौका पर नाबार्ड के क्षेत्रीय मुख्य महाप्रबंधक एस के बंसल ने नाबार्ड की गतिविधियों पर प्रकाश डाला

Loading...
loading...