Monday , September 24 2018
Loading...
Breaking News

डीयू की आखिरी पांचवी कट ऑफ लिस्ट जारी

दिल्ली विश्वविद्यालय की आखिरी और पांचवीं कट ऑफ में सामान्य के लिए चांस कम हैं जबकि आरक्षित श्रेणियों के विद्यार्थियों के लिए ज्यादा मौके हैं. इस कट ऑफ में कैंपस कॉलेजों के मुकाबले में आउट ऑफ कैंपस कॉलेजों में दाखिले के ज्यादा चांस है.

कई कॉलेज ऐसे हैं जहां दाखिले रद्द कराने पर ही मौका मिल सकता है. कट ऑफ में गिरावट की बात की जाए तो औसतन 0.25 प्रतिशत से लेकर 2 प्रतिशत हुई है. अब इस कट ऑफ के आधार पर 12 जुलाई और 14 जुलाई को दाखिले किए जाएंगे.

डीयू अधिकारियों के अनुसार यह अंतिम कट ऑफ है लिहाजा विद्यार्थी इस कट ऑफ में दाखिला रद्द कराने का खतरा न मोल लें. यदि आगे कट ऑफ की गुंजाइश नहीं बनी तो दाखिला लेना कठिन हो जाएगा.

Loading...

प्रशासन इस कट ऑफ के दाखिले संपन्न होने के बाद ही विश्लेषण करेगा कि कितनी सीटें बची हैं.पांचवीं कट ऑफ के लिए अभी लगभग पांच हजार सीटें खाली हैं. उम्मीद है कि तीन दिनों में यह सीटें भी भर जाएंगी.

loading...
कॉलेजों में कट ऑफ की बात की जाए तो रामजस कॉलेजों में सामान्य के लिए बीए की कट ऑफ 93.75, ईको की 96.25, अंग्रेजी के लिए 94.5, इतिहास के लिए 94, बीकॉम ऑनर्स 96.25, बॉटनी 91, गणित में 95.25, फिजिक्स में 96 प्रतिशत रखी गई है.

वहीं, हिंदू कॉलेज में 18 कोर्सेज में से सामान्य के लिए सभी कोर्सेज में दाखिले बंद हो गए हैं. यहां पीडब्लयूडी और कश्मीरी विस्थापितों के लिए ही चांस है. किरोड़ीमल कॉलेज में सामान्य की बीए कट ऑफ 93.5, हिंदी ऑनर्स की 87, ईको की 96.5, बीकॉम ऑनर्स 96.5, बीकॉम 96.25, बॉटनी की 92.66  व मैथमेटिक्स ऑनर्स की 95.25 प्रतिशत रही है.

यहां ओबीसी, पीडब्लयूडी और कश्मीरी विस्थािपितों के लिए चांस है. वहीं, शिवाजी कॉलेज में सामान्य के लिए बीकॉम ऑनर्स, बीकॉम, अंग्रेजी, इतिहास ऑनर्स, जूलॉजी और बॉटनी ऑनर्स में ही दाखिले का चांस है.

Loading...
loading...