Saturday , July 21 2018
Loading...

गुफा से सुरक्षित निकाल लिए गए 12 बच्चे व उनके कोच

आज DNA में सबसे पहले हम उस चमत्कार को नमस्कार करेंगे, जिस पर पूरी संसार की निगाहें टिकी हुई थीं ये चमत्कार थाईलैंड में हुआ है पिछले 17 दिनों से एक गुफा में फंसे 12 बच्चों को सकुशल बाहर निकाल लिया गया है इस ख़बर से संसार के हर राष्ट्र में ऐसी ख़ुशी है, जैसे वर्ल्ड कप जीत लिया हो इस ख़बर ने जिस तरह पूरी संसार के लोगों को एक कर दिया उससे लगता है कि संसार में मानवता आज भी ज़िंदा है ये धैर्य, साहस  प्रेरणा से भरी हुई एक शुभ ख़बर है

Loading...

ये इंटरनेट पर पूरी संसार में सबसे ज़्यादा सर्च की जाने वाली ख़बर है इसे पिछले 24 घंटों में करोड़ों लोग सर्च कर चुके हैं

इस पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन में Thai Navy Seal के गोताखोरों ने बड़ी किरदार निभाई है  इसका प्रभावउसके फेसबुक पेज पर भी दिख रहा है इस पेज को 17 लाख से भी ज़्यादा लोग Follow कर रहे हैं
आज सबसे पहले हम Thai Navy Seal का Facebook पर लिखा हुआ एक संदेश आपको दिखाने चाहते हैं

थाईलैंड के Navy Seals ने लिखा कि – हमें नहीं पता कि ये चमत्कार है, विज्ञान है या कुछ और सभी 13 Wild Boars अब गुफा से बाहर निकल आए हैं

Wild Boars इन बच्चों की फुटबॉल टीम का नाम है
ये गुफा कितनी खतरनाक थी  यहां इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देना कितना कठिनथा, ये समझने के लिए आपको एक वीडियो देखना होगा ये वीडियो Tesla  SpaceX के Founder Elon Musk ने Release किया है करीब एक मिनट के इस वीडियो को देखने के बाद आपको ये पता चलेगा कि ये गुफा कितनी खतरनाक थी

इस गुफा का नाम है थाम लुआंग, जो थाईलैंड के चियांग राय एरिया में स्थित है 23 जून को ये जूनियर फुटबॉल टीम अपने 25 वर्ष के कोच के साथ इस गुफा में गई थी इस गुफा में ये टीम अकसर जाती थी लेकिन बारिश के मौसम में ये लोग कभी वहां नहीं गए थे कुछ लोकल रिपोर्टर्स के मुताबिक ये टीम गुफा में एक सरप्राइज़ पार्टी करने गई थी लेकिन गुफा में टीम के पहुंचने के बाद से ही मूसलाधार बारिश प्रारम्भ हो गई जंगल के बाढ़ के पानी से गुफा का प्रवेश द्वार बंद हो गया इसके बाद कोच के साथ ये सारे बच्चे गुफा में लगातार फंसते चले गए इस गुफा का पानी लगातार बढ़ता गया ये थाईलैंड की चौथी सबसे बड़ी गुफा है

समस्या इस बात की थी कि इस गुफा में लगातार पानी भर रहा था हालांकि थाईलैंड ने गुफा से पानी निकालने के लिए बहुत से इंतज़ाम किए हुए थे लेकिन अगर बारिश  तेज़ होती तो गुफा में पानी भर सकता था  फिर बच्चों की जान बचानी कठिन हो जाती ऐसा अनुमान था कि 11 जुलाई यानी कल थाईलैंड के इस पूरे इलाके में करीब 52 मिलीमीटर की बारिश हो सकती है ये इस पूरे मॉनसून सीज़न की सबसे ज्यादा बारिश होती, क्योंकि अभी तक पिछले कुछ दिनों में जितनी भी बारिश इस पूरे इलाके में हुई है, वो 30 मिलीमीटर से कम रही है ऐसे में अगर 52 मिलीमीटर की बारिश होती तो पूरी गुफा में पानी भर सकता था

पहले इस बात की तैयारी थी कि मॉनसून समाप्त होने के बाद अक्टूबर के महीने में बच्चों को बाहर निकाला जाएगा लेकिन इन दशा में अक्टूबर का इंतज़ार करना सही नहीं होता इसीलिए थाईलैंड की नेवी सील टीम ने ये खतरा उठाया  इन बच्चों को बाहर निकालने का निर्णय किया

ये बचाव अभियान बहुत कठिन था, क्योंकि बचाव टीम को गुफा के अंदर जाने में 5 घंटे का वक्त लगता था   बच्चों के साथ बाहर आने में 6 घंटे लगते थे ये टीम बीच में एक घंटा आराम भी करती थी अब आप समझ सकते हैं कि दशा कितने खतरनाक थे सोमवार शाम तक 8 बच्चों को निकाला जा चुका था  आज बाकी बचे 4 बच्चों  उनके कोच को बाहर निकाला गया

सभी बच्चे सुरक्षित हैं  उनकी हालत खतरे से बाहर है अभी इन बच्चों के परिवार को उनसे मिलने नहीं दिया जा रहा है क्योंकि चिकित्सक इस बात की जांच कर रहे हैं कि 17 दिनों तक अंधेरी गुफा में रहने की वजह से बच्चे किसी गंभीर Infection का शिकार तो नहीं हो गए?

वैसे तो इस बचाव अभियान की सफलता में थाईलैंड की नेवी सील टीम, वहां की गवर्नमेंट  दूसरे राष्ट्रों से पहुंचे बचाव दल के लोगों का बहुत बड़ा हाथ है लेकिन थाईलैंड के लोगों की मेहनत को नकारा नहीं जा सकता संकट की इस घड़ी में पूरा थाईलैंड एक था जिनके बच्चे गुफा में फंसे हुए थे, वो तो परेशान थे ही, लेकिन थाईलैंड के दूसरे अभिभावकों ने भी बचाव अभियान पर करीब से नज़र रखने के लिए अपने दफ़्तर से छुट्टी ली हुई थी जैसे ही ये ख़बर आई कि सभी बच्चे सकुशल निकाल लिए गए हैं, तो लोग झूमने  गाने लगे

इसके अतिरिक्त थाईलैंड के अधिकारियों ने भी इस बात का पूरा ध्यान रखा कि बच्चों से संबंधित कोई अधूरी जानकारी बाहर न जाए क्योंकि ख़बरें लीक होने से बचाव अभियान में बाधा आ सकती थी  अफ़वाहें फैल सकती थीं बच्चों के परिवारों  उनकी संवेदनाओं को ध्यान में रखते हुए भी ये फ़ैसला लिया गया बचाव कैंप के पास CellPhone ले जाने की मनाही थी

आज जैसे ही इन बच्चों के सुरक्षित निकलने की ख़बर आई, पूरी संसार के बड़े बड़े नेताओं ने बधाई दी

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने Thai Navy SEALs को पूरे अमेरिका की तरफ से बधाई दी ट्रंप ने इसे खूबसूरत लम्हा बताया है

वहीं ब्रिटेन की पीएम Theresa May ने भी इन सबके बाहर आने पर खुशी ज़ाहिर की है उन्होंने Twitter पर लिखा कि पूरी संसार इसे देख रही थी  जो भी इस बचाव अभियान में शामिल था, उसकी बहादुरी को सलाम

कल हमने आपको बताया था कि संसार की दिलचस्पी फुटबॉल वर्ल्ड कप से ज्यादा थाईलैंड के इस Rescue Operation में थी लेकिन खुद फुटबॉल की International Governing Body FIFA की दिलचस्पी भी इन बच्चों के बचाव अभियान में थी आज जैसे ही ये बच्चे सकुशल बाहर आए, फीफा ने एक कार्टून के ज़रिये इन बच्चों को बधाई दी इस कार्टून में आप देख सकते हैं कि बच्चे गुफा में फंसे हुए हैं  बचावकर्मी उन्हें फीफा वर्ल्ड कप दे रहे हैं फीफा ने इन 12 बच्चों  उनके कोच को फुटबॉल वर्ल्ड कप का फाइनल देखने के लिए आमंत्रित किया है इसी रविवार को वर्ल्ड कप का फाइनल है लेकिन बच्चों की स्थिति देखते हुए फिल्हाल ये संभव नहीं लग रहा है

इसके अतिरिक्त इंग्लैंड के मशहूर फुटबॉल क्लब Manchester United ने भी इस बचाव अभियान की सफ़लता पर खुशी ज़ाहिर की है  आने वाले फुटबॉल सीज़न में इस पूरी टीम को अपने घर यानी कि इंग्लैंड के Old Trafford में आमंत्रित किया है

कुल मिलाकर बच्चों के सकुशल निकल आने पर पूरी संसार ने राहत की सांस ली है संसार बचाव दल के लोगों को सलाम कर रही है, लेकिन संसार को Royal Thai Navy के रिटायर्ड गोताखोर सुमन गुनान के बलिदान को नहीं भूलना चाहिए जिनकी इस ऑपरेशन के दौरान 6 जुलाई को मौत हो गई थी

Loading...