Tuesday , September 25 2018
Loading...
Breaking News

कभी मिल में कार्य करते थे कपिल देव

हॉकी खेलने वाले राष्ट्र में क्रिकेट को घर-घर तक पहुंचाने का पहला श्रेय कपिल देव को ही जाता है.1983 विश्व कप में लगातार 2 बार की चैंपियन वेस्टइंडीज को हराकर इंडियन क्रिकेट टीम ने इतिहास रच दिया था. तभी से भारत की नयी पीढ़ी की रग-रग में क्रिकेट दौड़ने लगा.

इस निर्बल समझी जाने वाली टीम के अगुवा थे कपिल देव. हिंदुस्तान के पहले तेज गेंदबाज ऑलराउंडर का तमगा हासिल करने वाले कपिल को संसार ‘ द हरियाणा हरिकेन’ के नाम से भी जानती है.

कपिल के इस अभूतपूर्व खेल से प्रभावित होकर ही मोदी मिल कंपनी ने उन्हें जॉब दी थी. कंपनी की दिल्ली वाली यूनिट में 1979 से लेकर 1980 के बीच उन्होंने कार्य किया था. उस दौरान जॉब से कुल 2 लाख 75 हजार रुपये की भविष्य निधि (PF) भी इकट्ठी हुई थी.

Loading...
मगर अब 38 वर्ष बाद जाकर कपिल को उनके भविष्य निधि का भुगतान किया गया है. कंपनी के डेप्युटी सेक्रेटरी राजेंद्र शर्मा ने इसकी जानकारी दी. दरअसल, मोदी मिल 1994 में ही बंद हो गई थी.हालांकि कंपनी आज भी अस्तित्व में है. बीते वर्ष जब कंपनी ने पुराने रिकॉर्ड्स खंगाले तो पता लगा कि कपिल देव के पीएफ का भुगतान बकाया है.

इसके बाद कंपनी ने कपिल देव से संपर्क साधा. 2.75 लाख रुपये बकाया होने की समाचार सुन कपिल भी दंग थे. अब कंपनी के अनुरोध पर भारतीय टीम के इस पूर्व कप्तान ने सारी औपचारिकताएं पूरी की. फिर कंपनी की ओर से भी उन्हें भविष्य निधि के 2.75 लाख रुपये का भुगतान कर दिया गया. पूरा मामला जनवरी 2018 का है.

loading...

कंपनी ने कपिल के बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने के बाद दोबारा वार्ता की प्रयास की, लेकिन व्यस्त प्रोग्राम के चलते वह उपलब्ध नहीं हो सके. उनके ऑफिस की ओर से भुगतान हो जाने की पुष्टि की गई. कंपनी के ऑफिसर शर्मा की माने तो कपिल यहां लाइजनिंग कमिश्नर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे. कपिल की प्रतिभा को देखते हुए ही यह जॉब दी गई थी.

Loading...
loading...