Friday , September 21 2018
Loading...
Breaking News

खेल गजत की बड़ी खबर: यूरोप के हाथों में आएगा इस बार विश्व कप

फीफा विश्व कप के 88 सालों के इतिहास में हर बार खिताब की जंग लैटिन अमेरिकी  यूरोपीय टीमों के बीच रही है. मगर पिछले कुछ सालों में यूरोपीय राष्ट्रों ने विश्व फुटबॉल पर अपने वर्चस्व की छाप छोड़ते हुए लैटिन अमेरिकी राष्ट्रों की कलात्मक  आक्रामक फुटबॉल को नेपथ्य मे डाल दिया है. विश्व कप के इतिहास में यह पांचवां मौका है जब चारों यूरोपीय टीमों ने सेमीफाइनल में स्थानबनाई है.

हर बार लैटिन अमेरिकी टीमों के साथ यह दुर्भाग्य यूरोपीय राष्ट्रों में दोहराया गया है. लैटिन अमेरिकी राष्ट्रों की कमान ब्राजील, अर्जेंटीना  उरुग्वे के हाथों में रही है. यही तीनों टीमों विश्व कप में विजेता, उप-विजेता  सेमीफाइनलिस्ट रही हैं.

हालांकि, इस बार लियोनेल मेसी, नेमार  लुइस सुआरेज के चलते यह माना जा रहा था कि ये तीनों राष्ट्र विश्व कप में अपनी छाप छोड़ेंगे, लेकिन न ही ये तीनों चले  न ही उनके देश. वर्ष 2002 से कोई भी लैटिन अमेरिकी राष्ट्र विश्व कप नहीं जीत सका है. अंतिम बार यह खिताब ब्राजील ने जीता था.

Loading...

बहरहाल, आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि सेमीफाइनल के लिए चारों टीमें तैयार हो चुकी हैं.

loading...

10 जुलाई को पहला सेमीफाइनल फ्रांस  बेल्जियम के बीच इंडियन समयानुसार रात साढ़े 11 बजे से खेला जाएगा.

11 जुलाई को दूसरा सेमीफाइनल इंग्लैंड  क्रोएशिया के बीच इंडियन समयानुसार रात साढ़े 11 बजे से खेला जाएगा.

रूस का विश्व कप यूरोपीय राष्ट्रों के लिए क्यों बन गया बेहद खास

लैटिन अमेरिका का दबदबा 1986 से 2002 तब रहा. ब्राजील  अर्जेंटीना इस दौरान छाए रहे. 16 साल तक यह दोनों राष्ट्र विश्व कप के फाइनल में स्थान बनाते रहे. यहां पांच विश्व कप में ब्राजील, अर्जेटीना ने तीन खिताब जीते.

वहीं यूरोपीय राष्ट्रों के पास पहली बार मौका होगा जब विश्व कप के इतिहास में वह लगातार चौथी बार खिताब पर कब्जा करेंगे. 2006, 2010  2014 में यूरोपीय राष्ट्र ने विश्व कप का खिताब जीता  इस बार भी उसके हाथों में ही यह ट्रॉफी आएगी.

– बता दें कि 60 सालों से लैटिन अमेरिकी राष्ट्र ने यूरोप में नहीं जीता है विश्व कप.
– 1934, 1966, 1982, 2006  2018 ऐसे मौके रहे जब सभी यूरोपीय राष्ट्र विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचे. ये सभी विश्व कप भी यूरोपीय राष्ट्रों में ही हुए.
– 2002 में ब्राजील ने विश्व कप का खिताब जीता था. वह विश्व कप का खिताब जीतने वाली लैटिन अमेरिका की अंतिम टीम रही.
– 1958 में स्वीडन में हुए विश्व कप को आखिरी बार महान पेले ने ब्राजील को जिताया था. यह ब्राजील का पहला विश्व खिताब था. इसके बाद ब्राजील ने अपने चारों विश्व खिताब 1962 चिली, 1970 मैक्सिको, 1994 अमेरिका  2002 कोरिया-जापान में जीते.
– 1978 में अर्जेंटीना ने स्वदेश में  1986 में मैक्सिको में विश्व कप जीता.
– 1930 में उरुग्वे ने अपने राष्ट्र  1950 में ब्राजील में विश्व कप जीता.
– 9 कुल खिताब लैटिन अमेरिकी टीमों ने जीते हैं.
– सभी 21 विश्व कप में खेलना वाला ब्राजील ही एकमात्र राष्ट्र है. खास बात यह है कि ब्राजील कभी विश्व कप के पहले दौर में बाहर नहीं हुआ.
Loading...
loading...