X
    Categories: राष्ट्रीय

अमरनाथ यात्रा मार्ग पर भूस्खलन

श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान बादल फटने से पांच श्रद्धालुओं की मौत हो गई. यात्रा के आधार शिविर बालटाल से पवित्र गुफा की तरफ जाते रास्ते पर बरारीमर्ग रेलपथरी के बीच मंगलवार शाम को बादल फटने से आई बाढ़ और भूस्खलन में श्रद्धालुओं की जान गई है. इस दौरान छह लोग घायल हो गए, जिनमें तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है. मृतकों में चार पुरुष और एक महिला श्रद्धालु शामिल है. देर रात खबर लिखे जाने तक सेना, पुलिस, आइटीबीपी, एनडीआरएफ, एसआरटीपी के जवान राहत कार्यो में जुटे रहे. घायलों को अस्पताल और चिकित्सा शिविरों में पहुंचाया गया.

इससे पूर्व मंगलवार प्रातः काल भी तीन अन्य श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जिनमें एक की भूस्खलन की चपेट में आने से  दो की हृदयगति रुकने से जान चली गई. 28 जून से प्रारम्भ हुई यात्रा में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है.

Loading...

संबंधित अधिकारियों ने बताया कि प्रातः काल आधार शिविर बालटाल में एक लंगर में 75 वर्षीय महिला ठोटा राधनम की हृदयगति रुकने से मौत हो गई. वह आंध्रप्रदेश में फायवलम की रहने वाली थीं. इसी दौरान संगम एरिया में 65 वर्षीय श्रद्धालु राधा कृष्ण सैस्त्री ने आकस्मित सीने में तेज दर्द की शिकायत की. उन्हें तुरंत निकटवर्ती चिकित्सा शिविर में पहुंचाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. डॉक्टरों के मुताबिक, उनकी मौत हृदयाघात से हुई है. वह भी आंध्रप्रदेश के अनंतपुर के रहने वाले थे. दोनों श्रद्धालुओं के मृत शरीर बालटाल स्थित चिकित्सा शिविर में रखे गए हैं. आवश्यक कानूनी औपचारिकता के बाद मृत शरीर उनके परिजनों के हवाले कर दिए जाएंगे.

loading...

इससे पूर्व गत सोमवार को भी यात्रा मार्ग पर बरारीमर्ग  रेलपथरी के बीच भूस्खलन की चपेट में आकर उत्तराखंड से आए श्रद्धालु पुष्कर नाथ गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें इलाजके लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार प्रातः काल उन्होंने दम तोड़ दिया. इससे पहले श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान एक बीएसएफ अधिकारी, एक लंगर सेवादार  एक पालकी वाले की भी मौत हो चुकी है. उधर, कश्मीर के त्राल में भी बादल फटने की सूचना है.

Loading...
News Room :

Comments are closed.