Friday , September 21 2018
Loading...

नौकरियों से जुड़े डेटा की कमी: पीएम मोदी

राष्ट्र में नौकरियों की संख्या को लेकर एनडीए गवर्नमेंट  पीएम नरेंद्र मोदी लगातार विपक्ष के निशाने पर हैं. लेकिन इस मुद्दे पर पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए पीएम ने बोला कि राष्ट्र में नौकरियों की नहीं, बल्कि नौकरियों से जुड़े डेटा की कमी है. एक पत्रिका को दिए गए इंटरव्यू में पीएम ने यह बात कही है.

Image result for नौकरियों से जुड़े डेटा की कमी: पीएम मोदी

जब उनसे पूछा गया कि राष्ट्र में इस समय सबसे बड़ी चुनौती नौकरियां पैदा करना है  विपक्ष लगातार इस पर सवाल खड़े कर रहा है, तो इस पर उन्होंने बोला कि यहां पर मसला नौकरियों की कमी का नहीं बल्कि उसके कम डेटा का है. हमारे विपक्षी जाहिर तौर पर इसका लाभ उठाएंगे, ताकि वो सत्तापक्ष पर आरोप गढ़ सकें. पीएम मोदी ने बोला कि मैं नौकरियों के संदर्भ में विपक्ष पर आलोचना करने का आरोप नहीं लगा रहा हूं, क्योंकि किसी के भी पास नौकरियों से जुड़ा पर्याप्त डेटा नहीं है. पीएम ने बोला कि नौकरियों को मापने का हमारा पारंपरिक मैट्रिक्स न्यू इंडिया की नयीअर्थव्यवस्था में नयी नौकरियों को मापने के लिए पर्याप्त नहीं है.

Loading...

प्रधानमंत्री से अगला सवाल पूछा गया कि फिर वो कैसे नौकरियों को मापते हैं  यहां से वो आगे क्या करने वाले हैंइसके जवाब में पीएम मोदी ने बोला कि हम जब राष्ट्र में नौकरियों के रुझान को देखते हैं, तो हमें यह बात आज अपने दिमाग में रखनी होगी कि हमारे राष्ट्र के युवाओं के हित  आकांक्षाएं अलग-अलग है. उन्होंने बोला कि उदाहरण के तौर पर समझे तो राष्ट्र में ग्रामीण स्तर के 3 लाख उद्यमी कार्यरत हैं जो कि देशभर में कॉमन सर्विस सेंटर का संचालन कर रहे हैं  रोजगार सृजित कर रहे हैं.

loading...
Loading...
loading...