Thursday , November 15 2018
Loading...
Breaking News

आखिर क्यों नहीं बिक पाई एयर इंडिया?

एयर इंडिया की 76 फीसद हिस्सेदारी बिक्री असफल रहने का हवाला देते हुए जब पीएम नरेंद्र मोदी से जब पूछा गया क्या वो निजीकरण के विरूद्ध है? इस पर रिएक्शनदेते हुए उन्होंने एक व्यक्तिगत पत्रिता को बताया कि आखिर एयर इंडिया की बिक्री क्यों नहीं हो पाई. वहीं GST के मुद्दे पर भी उन्होंने अपनी बेबाक राय रखी.

Image result for आखिर क्यों नहीं बिक पाई एयर इंडिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जब एक पत्रकार ने पूछा कि क्या वो निजीकरण के विरूद्ध हैं, जैसा कि एयर इंडिया को हाल ही में कोई खरीदार न मिलने से साबित होता हैइस पर उन्होंने कहा, “मैं आपसे निवेदन करूंगा कि आप अपने तथ्यों की जांच करें. हमारी गवर्नमेंट ने जरूरी विनिवेश किए हैं. आप इस पर  तथ्य खंगाले  फिर किसी नतीजे पर पहुंचे.

Loading...

पीएम मोदी ने कहा, “जहां तक एयर इंडिया का सवाल है गवर्नमेंट ने हर वो कार्य गंभीरता से किया जिसे वो कर सकती थी. आपको एयर इंडिया के बिक्री प्रस्ताव को मिली रिएक्शन  नीतिगत निर्णयों के बीच अंतर करना होगा. कैबिनेट स्तर पर हमने न सिर्फ एयर इंडिया की बिक्री बल्कि अन्य पब्लिक सेक्टर यूनिट्स की बिक्री को मंजूरी दी थी. यह बात कई मायनों में ऐतिहासिक भी है.हम इस तरह से बिक्री नहीं कर सकते हैं कि हम पर आरोप लगे कि हमने किसी को किसी भी मूल्यपर बिक्री कर दी जबकि अधिक दाम मिल सकते थे. लेकिन सामरिक बिक्री के लिए नीतिगत फैसलापहले से ही लिए जा चुके हैं.

loading...

जीएसटी एक वर्ष बाद भी वर्क इन प्रोग्रेस है?

इस सवाल का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा, “जीएसटी एक विकसित प्रणाली है. हमने इसे राज्य सरकारों, लोगों  मीडिया की प्रतिक्रियाओं के आधार पर तैयार किया है. लोगों, व्यापारियों अन्य लोगों से मिले सुझावों को इसमें शामिल किया गया है.

क्या आगे GST दरें कम होंगी?

पीएम मोदी ने कहा, “अगर दरों की बात करें तो पहले बहुत ज्यादा सारे कर छिपे हुए थे. आज आप जो देख रहे हैं उसी का भुगतान कर रहे हैं. गवर्नमेंट 400 से ज्यादा उत्पादों पर कर की दरें कम कर चुकी है. करीब 150 वस्तुएं जीरो कर रेट में आती हैं. अगर आप देखेंगे तो पाएंगे कि प्रतिदिन प्रयोग होने वाली चीजों पर कर दरें कम हुई हैं.

Loading...
loading...