Friday , November 16 2018
Loading...
Breaking News

आईएसआई व हुर्रियत ने करवाई इस पत्रकार की हत्या?

राइजिंग कश्मीर के संपादक  वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की आतंकवादियों ने गोली मारकर मर्डर कर दी थी. माना जा रहा है कि उनकी मर्डर हुर्रियत और इंटर-सर्विसेस इंटेलिजेंस (आईएसआई) के विरोध  रमजान के महीने में प्रयत्न विराम को बनाए रखने की वकालत करने की वजह से हुई है. सूत्रों के अनुसार अलगाववादी नेता चाहते थे कि बुखारी उनकी तरह शांति के किसी भी प्रस्ताव को स्वीकार करने से मना कर दें  इसके लिए उनके विरूद्ध सोशल मीडिया पर अभियान चलाकर एक कठोर दबाव बनाया जा रहा था.
Image result for पत्रकार शुजात बुखारी

इस बात को ध्यान में रखते हुए कि सोशल मीडिया पर किए जा रहे हमले उनके विरूद्ध बढ़ते गुस्से का एक इशारा था, जम्मू  कश्मीर पुलिस के सूत्रों ने बुखारी को अलर्ट किया था. पुलिस सूत्रों ने उन्हें जानलेवा हमले से लगभग एक महीने पहले चेताया था  उनसे अपनी गतिविधियों को लेकर सतर्क रहने के लिए बोला गया था. राज्य पुलिस का मानना है कि सीसीटीवी में कैद हुए हमलावरों में से एक नवीद जट है जोकि लश्कर-ए-तैयबा का आतंकवादी है. वह चेकअप के दौरान श्रीनगर के अस्पताल से भाग गया था.

एक ऑफिसर ने कहा, ‘हमें शक है कि लश्कर ने आईएसआई के कहने पर उनकी मर्डर की है. पुलिस की चेतावनी के बारे में बुखारी के भाई  राज्य गवर्नमेंट में मंत्री बशरत बुखारी के साथ भी साझा की गई थी.

Loading...

शुजात ने दुबई में हिंदुस्तान  पाक के बीच हुई ट्रैक 2 की वार्ता में आजाद कश्मीर की वकालत की थी  कश्मीर में चलाए जा रहे हिंदुस्तान गवर्नमेंट की पहल का स्वागत किया था. यह पाक की सेना, आईएसआई  आतंकवादी संगठन जैसे कि हिजबुल मुजाहिद्दीन को उनकी बातें रास नहीं आईं.खुफिया एजेंसियों से मिली जानकारी के अनुसार शुजात का यूनाइटेड जिहाद काउंसिल के अध्यक्ष हिजबुल के मुखिया सैय्यद सलाहूद्दीन से मतभेद था. कश्मीर की आजादी का स्वर लिस्बन  बैंकॉक में गूंजा जिसकी वजह से शुजात आईएसआई  पाक की सेना की आंखों में खटकने लगे क्योंकि पाककश्मीर को अपने कब्जे में करना चाहता है.

loading...
Loading...
loading...